थाई राजकुमारी ने बुद्ध के जन्मस्थान का दौरा किया

Please Share This News To Other Peoples....

काठमांडू। थाइलैंड की राजकुमारी महा चाकरी सिरिनधोर्न ने नेपाल के रुपांदेही जिले में स्थित भगवान बुद्ध के जन्मस्थान लुम्बिनी का दौरा किया। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, सिरिनधोर्न ने माया देवी मंदिर का दौरा किया जो कि 623 ईसा पूर्व में बनी थी और इसका नाम भगवान बुद्ध की माता रानी माहा माया के नाम पर रखा गया था।


हिमालय पर्वत श्रृंखला की तलहटी में स्थित लुंबिनी एक बौद्ध तीर्थ स्थल है, जहां कई मंदिर स्थित हैं। संयुक्त राष्ट्र विश्व धरोहर स्थलों की सूची में माया देवी मंदिर को 1997 में जोड़ा गया था।
62 वर्षीय राजकुमारी शुक्रवार सुबह नेपाल की राजधानी काठमांडू में त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के माध्यम से एक चार्टर्ड विमान में लुम्बिनी के लिए उड़ान भरी।
अधिकारियों के अनुसार, उन्होंने लुम्बिनी में विभिन्न सांस्कृतिक और धार्मिक अनुष्ठानों में हिस्सा लिया। उन्होंने थाईलैंड सरकार की मदद से बनाए गए शाही थाई मठ का उद्धाटन किया।


लुंबिनी डेवलपमेंट ट्रस्ट (एलडीटी) परियोजना प्रबंधक सरोज भट्टराई ने मीडिया को बताया कि इस अवसर पर, 2,000 से अधिक भिक्षु, बौद्ध धर्म के अनुयायी और साथ ही थाईलैंड के सरकारी अधिकारी भी उपस्थित थे।
थाईलैंड की सरकार ने लुंबिनी के विकास के लिए वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान की है। यह जगह बौद्धों के लिए सबसे पवित्र स्थानों में से एक है।
नेपाल की एक दिवसीय यात्रा के समापन के बाद, थाईलैंड की राजकुमारी शुक्रवार की देर शाम को वापस अपने घर लौट गई।

loading...

You may also like

जापान:शिंजो आबे बने देश में सबसे लंबे कार्यकाल वाले प्रधानमंत्री

जापान। देश के सबसे लंबे कार्यकाल वाले प्रधानमंत्री