यूपी बोर्ड : चार दिन में दस लाख से ज्यादा छात्रों परीक्षा छोड़कर बनाया विश्व रिकार्ड

यूपी बोर्डयूपी बोर्ड

लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा में परीक्षा छोड़ने का अनोखा विश्व रिकार्ड बना है।दस लाख से ज्यादा छात्र-छात्राओं ने इंटर व हाईस्कूल की परीक्षा छोड़कर नया कीर्तीमान हासिल किया है।इतना बड़ा अकड़ा मात्र परीक्षा शुरू होने के चौथे ही दिन का है. तो आप सोच सकते आगे और क्या होने वाला है।पिछले वर्ष में उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में अधिकतम साढ़े छह लाख बच्चो ने ही परीक्षा छोडी थी। पिछली बार की तुलना यह अकड़ा कही ज्यादा है।इतनी बड़ी संख्या में छात्रों के परीक्षा छोड़ने के कारण प्रभावी ढंग से नकल पर रोक लगाना है । इसमें सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति, परीक्षा केंद्रों में संसाधन जुटाना और शिक्षा व प्रशासन के अफसरों का सामंजस्य नकलचियों को महगा पड़ रहा है।

ये भी पढ़े :सारा तेंदुलकर को परेशान करने वाला आरोपी बोला, सारा ही बनेगी मेरी दुल्हनिया

यूपी बोर्ड पिछले साल 16 मार्च  से शुरू हुई थी

ये तो संयोग की बात ही है कि पिछले साल 19 मार्च को सत्ता में आई  तो उसके कुछ ही दिन पहले यानी 16 मार्च से ही यूपी बोर्ड परीक्षा की शुरूवात हुई थी। मंत्री मंडल का गठन होने तक यूपी बोर्ड परीक्षा अंतिम दौर पर थी। ऐसे में योगी सरकार उसी समय आने वाले साल के परीक्षा की तैयारियो में जूट गयी थी।साल 2018 में होने वाली यूपी बोर्ड परीक्षा की तारीख और परीक्षा कार्यक्रम काफी समय पहले ही तय हो गया था।जिससे परिक्षार्थियो अपनी तैयारी करने का पूरा मौका मिल सके उसके बाद परीक्षा केंद्र संसाधन और उनके निधारण पर ध्यान दिया गया ।

दस लाख से ज्यादा छात्रों छोडी परीक्षा

सरकार के इन प्रयासों का ही यह परिणाम है कि परीक्षा के शुरू होने के पहले ही दिन से नकल लरने वाले छात्र-छात्रो ने परीक्षा से किनारा लेना शुरू के दिया. ये बात यहाँ तक पहुंच तक गयी मात्र चार दिन हुए और परीक्षा छोड़ने वालो छात्र-छात्रो की संख्या दस लाख के पार पहुँच गई।10 लाख 44 हजार 619 छात्रो ने यूपी बोर्ड परीक्षा छोड़ने का इरादा बना लिया।छोड़ने वालो छात्र-छात्रो की संख्या में हाई स्कूल के 24 हजार 473 व इंटर के चार लाख 20 हजार 146 है।इसमें खास बात है कि परीक्षा छोड़ने वाले विद्यार्थियों की संख्या वही ज्यादा है जो पिछले वर्षों में नकल कराने के लिए कुख्यात रहे हैं।

loading...

You may also like

घर बैठे जानें आयुष्मान योजना के लाभार्थी सूचि में आपका नाम है या नहीं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखण्ड की