ऑस्ट्रेलिया के 20 फीसदी बच्चे भोजन से वंचित, खा रहे हैं कागज

ऑस्ट्रेलियाऑस्ट्रेलिया

केनबरा । ऑस्ट्रेलिया के 20 फीसदी से ज्यादा बच्चे बीते 12 महीनों से भूखे रह रहे हैं। इसका खुलासा एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट से हुआ है।  रिपोर्ट के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया के फूडबैंक द्वारा 1,000 माता-पिता के सर्वेक्षण में पाया गया कि 15 साल से कम उम्र के ऑस्ट्रेलिया में बच्चों का 22 फीसदी ऐसे परिवार में रहते हैं। जिनको गरीबी के कारण भूखे रहना पड़ता है।

ऑस्ट्रेलिया ब्रॉडक्रास्टिंग कॉरपोरेशन ने कहा कि हमारे लिए बहुत दुखद

जो बीते 12 महीनों में कभी-कभी खाने से वंचित रहे। यह भी पाया गया कि स्कूल जा रहे पांच बच्चों में से एक बच्चा हफ्ते में एक बार बिना नाश्ता किए स्कूल जाता है और 10 में से एक बच्चा कम से कम हफ्ते में एक बार पूरा दिन बिना खाए रहता है। फूडबैंक विक्टोरिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डावे मैकनामारा ने ऑस्ट्रेलिया ब्रॉडक्रास्टिंग कॉरपोरेशन (एबीसी) से कहा कि मेरा मानना है कि एक समाज के तौर यह हमारे लिए बहुत दुखद है।

ये भी पढ़ें :-CWG 2018: 66 पदकों के साथ भारत ने रचा इतिहास, पदक तालिका में मिला तीसरा स्थान 

29 फीसदी माता-पिता हफ्ते में एक बार बिना भोजन के  हैं रहते  ताकि उनके बच्चे खाना खा सकें

उन्होंने कहा कि हमारे समुदाय में सबसे कमजोर-हमारे बच्चे, हमारा भविष्य-पीड़ित हैं और मुझे नहीं लगता कि यह सही है, कोई भी इसे सही ठहरा सकता है। सर्वेक्षण में पाया गया है कि वयस्कों की तुलना में बच्चों के बिना भोजन रहने की संभावना अधिक रही। लेकिन 29 फीसदी माता-पिता ने कहा कि वे हफ्ते में कम से कम एक बार बिना भोजन के रहे, जिससे उनके बच्चे खाना खा सकें।

बच्चों को खिलाने के लिए करना पड़ रहा है संघर्ष

मैकनामारा ने कहा कि कुछ बच्चे कागज खा रहे हैं। उनके माता-पिता ने उनसे कहा है कि पर्याप्त भोजन नहीं है और यदि आपको भूख लगती है तो आपको कागज चबाना होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि जीवनयापन लागत की वजह से माता-पिता को अपने बच्चों को खिलाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।

loading...
Loading...

You may also like

भारत, रूस के बीच एस-400 सौदे से उड़ी पाक की नींद…

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने भारत के रूसी एस-400 एयर डिफेंस