SBI ग्रहकों के लिये बुरी ख़बर, बैंक ने बंद किये 41 लाख सेविंग्स एकाउंट

बैंकबैंक

दिल्ली।भारत के सबसे बड़े स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने एक बड़ा कदम उठाया है। एसबीआई ने अपने लगभग 41 लाख सेविंग्स एकाउंट को बंद कर दिया है, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने इन खातो की बंद करने की वजह खातो में मिनिमम बैलेंस का होना बताया है।

बैंक ने बंद कीये 41 लाख सेविंग्स एकाउंट

मिली जानकारी के मुताबिक वित्तीय वर्ष में अप्रैल से जनवरी के बीच इन सभी खातों को बंद कर दिया है। इन सभी खातो में एवरेज मंथली बैलेंस मेंटेन नहीं हो पा रहा था। खास बात है कि बीते दिन एसबीआई ने एवरेज मंथली बैलेंस न रखने पर लगने वाले चार्ज को भी 75 फीसद तक कम कर दिया है।मध्यप्रदेश निवासी चंद्रा शेखर गौड़ की तरफ से दाखिल की गयी आरटीआई के जबाब में SBI ने कहा है की “खाते में न्यूनतम राशि मैंटेन न करने पर लागू जुर्माने के प्रावधानों के तहत बैंक ने 1 अप्रैल, 2017 और 31 जनवरी, 2018 के बीच 41।16 लाख बचत SBI खाते बंद कर दिए हैं।” स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में करीब 41 करोड़ बचत खाते (सेविंग बैंक अकाउंट) हैं इन सबी खातो में लगभग 16 करोड़ तो सिर्फ प्रधानमंत्री जनधन योजना/बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट (बीएसएसडी) और पेंशनर्स के हैं।

ये भी पढ़े :ब्रेकिंग : मुख्यमंत्री ने दी विजयी उम्मीदवारों को बधाई, सपा-बसपा गठबंधन को बताया सौदेबाजी…

पिछले साल अप्रैल महीने के दौरान स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने खाते में एक न्यूनतम राशि (एवरेज मंथली बैलेंस) न रखने पर चार्ज लगाना शुरू कर दिया है। इस नये नियम के मुताबिक SBI खाताधारक जो मेट्रो या शहरी क्षेत्र में आते है। उकने खाते में 3000 रूपये रखाना जरूरी के दिया। इसके अलावा जो कस्बे क्षेत्र में आते है उनके लिए यह सीमा 2,000 रुपए और ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले खाताधारकों के लिए यह सीमा 1,000 रुपए निर्धारित की गई थी।अब तो SBI ने कहा है की मेट्रो और शहरी क्षेत्रों में खाते में मंथली एवरेज बैलेंस (एएमबी) न रखने पर 50 के बजाए 15 रुपए प्रती महीने चार्ज देना होगा

 

loading...
Loading...

You may also like

मेरठ में इंसानियत शर्मसार, 2 भाइयों ने सागी बहन से 4 साल तक किया बलात्कार

मेरठ। रेप का एक सनसनीखेज मामला सामने आया