यूपी बोर्ड से 50 हजार फर्जी छात्र आउट

यूपी बोर्डयूपी बोर्ड

लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार यूपी बोर्ड के नक़ल माफियाओं पर शिकंजा कस दिया है। वर्ष 2018 में होने वाली बोर्ड परीक्षा में सख्ती की है।फर्जी दस्तावेजों के आधार पर करीब 50 हजार अभ्यर्थियों का आवेदन इस बार माध्यमिक शिक्षा परिषद ने निरस्त कर दिया है।

ये भी पढ़ें :-रजत कॉलेज ने बिखेरा राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय खेलों में जलवा

यूपी बोर्ड के प्रबंधकों और प्राचार्यों पर दर्ज होगा मुकदमा

  • यूपी बोर्ड की 2018 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा से तकरीबन 50 हजार छात्र-छात्राओं को बाहर कर दिया है।
  • फर्जी दस्तावेज जमा करने वाले इन विद्यार्थियों का पंजीकरण निरस्त कर दिया है।
  • योगी ने ऐसे प्रबंधकों और प्राचार्यों पर शिकंजा कसने और मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।
  • बोर्ड ने क्षेत्रीय कार्यालय से मिली रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की  है।

6 फरवरी से शुरू हो रही बोर्ड परीक्षा

  • 6 फरवरी से शुरू हो रही बोर्ड परीक्षा के लिए जनवरी मध्य से छात्र-छात्राओं को प्रवेश पत्र जारी होने हैं।
  • बोर्ड परीक्षा केंद्र निर्धारण हो चुका है और अब परीक्षार्थियों को रोल नंबर एलॉट होना है।
  • रोल नंबर देने से पहले बोर्ड ने प्राइवेट अभ्यर्थियों के दस्तावेजों की जांच करवाने के आदेश दिए थे।
  • बड़ी संख्या में प्राइवेट अभ्यर्थियों ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर रजिस्ट्रेशन कराया था।
  • बोर्ड ने अब तक 50 हजार परीक्षार्थियों के पंजीकरण निरस्त कर चुका है ।

जांच  प्रक्रिया जारी, बढ़ सकती है फर्जी अभ्यर्थियों की संख्या

  • जांच की प्रक्रिया चल रही है इसलिए यह संख्या अभी और भी बढ़ सकती है।
  • सीएम के निर्देश पर विभाग गंभीरता से जांच में जुटा है।
  • पिछले साल मेरठ क्षेत्रीय कार्यालय में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी मिली थी।
  • 25 से 30 हजार छात्र-छात्राओं को फर्जी दस्तावेज के सहारे बोर्ड परीक्षा में शामिल करा दिया था।

 बोर्ड ने जांच करवाई तो फर्जीवाड़े का खुलासा

  • मामले की जानकारी पर बोर्ड ने जांच करवाई तो फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ।
  • इसे गंभीरता से लेते हुए अभ्यर्थियों के अंकपत्र सह प्रमाणपत्र निरस्त कर दिए गए।
  • निरस्तीकरण का आदेश वापस लेने के लिए बोर्ड पर काफी दबाव पड़ा।
  • उस मामले से सबक लेते हुए सरकार और बोर्ड इस बार किसी प्रकार का जोखिम नहीं उठाना चाहता है।
  • लिहाजा शिक्षा विभाग ने पहले ही जांच कर 50 हजार फर्जी आवेदन निरस्त कर दिया है।
loading...
Loading...

You may also like

खुदाबख्शखां में सिगरेट पीने के विवाद में युवक ने चलाई गोली

लखनऊ। अमीनाबाद के हाता खुदाबख्शखां में गुरुवार देर