शाह की कंपनी में 51 करोड़ की राशि विदेशों से आई : राज बब्बर

राज बब्बर
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने सोमवार को सूबे की राजधानी लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था, जिसके तहत यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। प्रेस कांफ्रेंस के संबोधन के दौरान राज बब्बर ने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के मामले को लेकर भाजपा और केंद्र सरकार पर निशाना साधा। इसके साथ ही राज बब्बर ने जय शाह की कंपनी को लेकर भी कई सवाल उठाये।

राज बब्बर ने अमित शाह पर जमकर धावा बोला

यह भी पढ़ें : जय अमित शाह की सम्पूर्ण सम्पत्ति और आय के श्रोतो की निष्पक्ष तरीके से जांच होना आवश्यक 

कालूपुर कॉपरेटिव बैंक के द्वारा 25 करोड़ का ऋण 6 करोड़ की संपत्ति को गिरवी रख कर दिया गया। कुसुम फाइनेंशियल भी जय शाह की है। अमित शाह के बेटे की कंपनी के अलावा इनसिक्योर लोन दिए गए है।

क्या आरबीआई के नियम यह कहते है कि, 6 करोड़ की संपत्ति रख कर 25 करोड़ का ऋण दिया जा सकता है? क्या कारण था कि, 19 करोड़ का इन सिक्योर लोन क्यों दिया गया? जिससे इतनी बड़ी धनराशि आयी है विदेशों से। जय शाह की कंपनी में 51 करोड़ की राशि विदेशों से आई है। टेम्पल इंटर प्राइजेज कौन सा कारोबार करती है।

Related posts:

हाथ जोड़कर रोती रही हनीप्रीत, पुलिस ने लिया 6 दिन की रिमांड पर  
स्वतंत्रता संग्राम के महत्वपूर्ण स्तंभ थे मौलाना आजाद : राहुल गांधी
सूचना न देने वालों पर गिरी गाज, आयुक्त ने ठोंका चार लाख का जुर्माना
स्टंटबाज ने युवक को मारी टक्कर, नाजुक हालत में सिविल अस्पताल में भर्ती
69th गणतंत्र दिवस की तैयारियां शुरू...
वसीम रिज़वी आज पूरी कौम को ज़लील कर रहा है : मुहम्मद आफ़ाक़
उत्तर प्रदेश में योगी राज नहीं जंगलराज है : आम आदमी पार्टी
मौलाना मदनी बोले- गाय को घोषित करें राष्ट्रीय पशु, रहेगा इंसान भी सुरक्षित और गाय भी
स्वामी का ओवैसी पर बड़ा हमला, यह भी बताएं आतंकी संगठनों में कितने मुसलमान
लखनऊ : भारी कर्ज में डूबे आर्किटेक्ट ने पांचवी मंजिल से कूद कर दी जान...
ट्रक लूट के लिए की गई थी चालक की हत्या, इनामी सहित हत्यारोपित गिरफ्तार
सोमवती अमावस्या पर है खास संयोग, धन लाभ के लिए करें ये उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *