विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, इस कैबिनेट मंत्री ने थामा BJP का हाथ

Please Share This News To Other Peoples....

शिमला। कांग्रेस को हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले ठीक एक बहुत बड़ा झटका लगा है। यहाँ पर कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री अनिल शर्मा ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। कहा जा रहा है कि अनिल शर्मा शनिवार की शाम बीजेपी में शामिल हो गए।

वहीँ अभी तक इस बात की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है। अनिल शर्मा पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम के बेटे हैं। सूत्रों की माने तो रविवार को पार्टी की तरफ से रविवार को उनके बीजेपी में शामिल होने की घोषणा कर दी जायेगी। वहीँ विधानसभा के ठीक पहले कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री का बीजेपी में शामिल होना पार्टी के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है।

बता दें कि हिमाचल प्रदेश में नौ नवंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं और वोटों की गिनती 18 दिसंबर को कराई जाएगी। नामांकन दाखिल करने की तिथि 16 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक होगी और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 26 अक्टूबर होगी।

गौरतलब है कि चुनाव की घोषणा होने के साथ ही हिमाचल प्रदेश में आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। राज्य में 49 लाख से ज्यादा मतदाता हैं जिनके लिए 7,479 से ज्यादा मतदाता केंद्र बनाए जाएंगे। 68 सदस्यीय हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल सात जनवरी 2018 को समाप्त होगा।

इस चुनाव की सबसे खास बात यह है कि हिमाचल प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में वीवीपैट मशीन लगाई जाएंगी ताकि मतदाता यह देखने में सक्षम हों कि उन्होंने किस पार्टी, चुनाव चिन्ह एवं उम्मीदवार को वोट दिया है.

Related posts:

Swiss Couple मारपीट मामला: सुषमा ने योगी को किया तलब
अगर बीजेपी ईमानदार है तो बैलट पेपर वोटिंग करवाए : मायावती
केन्द्रीय कैबिनेट ने लिए कई बड़े फैसले
गुजरात चुनाव : बीजेपी 98 सीटों पर जीत दर्ज कर बनेगी सरकार, कांग्रेस को मिली 81 सीटें
जयराम ठाकुर समेत 11 विधायकों ने ली शपथ
संघ पीएम मोदी के विरोधियों पर करेगा कार्रवाई, तोगड़िया समेत तीन नेता होंगे बाहर
रक्षामंत्री खरीदने चले गए मछली, इधर पीएम ने बदल दिया राफेल सौदा : राहुल
आंध्र प्रदेश : रामनवमी उत्सव के दौरान हादसे में 4 की मौत 70 घायल, बाल-बाल बचे सीएम
राबड़ी देवी ने नीतीश सरकार को पत्र लिखकर दी बधाई, ख़त में कही ये बड़ी बात
गायत्री प्रजापति को नहीं मिली राहत, कोर्ट ने बढ़ाई न्यायिक हिरासत
यूपी कांग्रेस अनुशासन समिति का नोटिस अभियान जारी
पूर्व सीएम के घोषणा के बावजूद नहीं मिली पीड़ित को मदद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *