अलीगढ़ : BJP नेता के घर लिखी जा रही हैं यूपी बोर्ड की कॉपियां, 58 आरोपी गिरफ्तार

अलीगढ़अलीगढ़
Please Share This News To Other Peoples....

अलीगढ़। इस साल यूपी में नक़ल पर नकेल कसने का दावा करने वाली योगी सरकार के दावे की पोल खुलती हुई नजर आ रही है। इस बार सत्ता में आयी बीजेपी सरकार बड़े-बड़े दावे कर रही थी। साथ ही नक़ल पर सख्ती को बच्चों के परीक्षा छोड़ने के तौर पर देखा जा रहा था। लेकिन अब अलीगढ़ में इन दावों ने दम तोड़ दिया है।जानकारी के मुताबिक यहां पर सादा कपड़ों में बाइक से पहुंचकर अतरौली के एसडीएम व सीओ ने गांव तेवथू में कॉलेज प्रबंधक शिवकुमार शर्मा के घर में छापा मारकर 58 लोगों को गिरफ्तार किया है जो परीक्षाओं की कॉपी लिखते पकड़े गए हैं। बताया जा रहा है कि प्रबंधक खुद को बीजेपी नेता बताता है।

अलीगढ़ : कॉलेज प्रबंधक के घर पर लिखी जा रही थी परीक्षा की कॉपियां

जानकारी के मुताबिक यहां पर सादा कपड़ों में बाइक से पहुंचकर अतरौली के एसडीएम व सीओ ने गांव तेवथू में कॉलेज प्रबंधक शिवकुमार शर्मा के घर में छापा मारकर 58 लोगों को गिरफ्तार किया है जो परीक्षाओं की कॉपी लिखते पकड़े गए हैं यहां 58 सॉल्वरों को इंटरमीडिएट रसायन विज्ञान परीक्षा की कॉपियां लिख रहे थे। सबसे चौकाने वाली बात तो यह है कि मुहर लगीं 100 से ज्यादा कॉपियां भी बरामद हुई हैं। सूत्रों की माने तो परीक्षा के बाद तीन हजार रुपये में कॉपी बदली जाती थी। पकड़े गए सॉल्वरों को पुलिस बस से कोतवाली लेकर आई। जानकारी मिलने पर एडीएम प्रशासन आरएन शर्मा व एसपी देहात डॉ. यशवीर सिंह पहुंच गए।

कॉलेज प्रबंधक और केंद्र व्यवस्थापक हिरासत में

इस मामले में पुलिस ने केंद्र व्यवस्थापक व प्रधानाचार्य को हिरासत में ले लिया है। डीआइओएस डॉ. धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि 58 सॉल्वर व प्रबंधक के खिलाफ एफआइआर करा दी है। परीक्षा निरस्त कर कॉलेज को हमेशा के लिए प्रतिबंधित करने संस्तुति की गई है। केंद्र पर कॉपियों का मिलान किया गया तो सभी पूरी थीं। हल की जाने वाली कॉपियां पुरानी कॉपियों के पन्ने जोड़कर बनाई गई थीं। बौहरे किशनलाल इंटर कॉलेज के प्रबंधक का मकान सड़क पर कॉलेज के सामने ही है। कई दिनों से सूचना मिल रही थी कि खुद को बीजेपी नेता बताने वाले प्रबंधक के घर में यूपी बोर्ड परीक्षा की कॉपियां लिखी जा रही हैं।

गुरुवार को दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की रसायन विज्ञान की परीक्षा थी। बाइक पर एसडीएम शिवकुमार व सीओ सुरेश कुमार मलिक मकान पर पहुंचे। पुलिस को भी बुलाकर मकान को चारों ओर से घेर लिया। इस मामले में 58 पेपर हल करने वाले लोगों व प्रबंधक के खिलाफ एफआइआर कराई जा रही है। बताया गया है कि तीन-तीन हजार रुपये में हल की गईं कॉपियां बदली जाती थीं।

loading...

You may also like

तीन तलाक पर मायावती बोली- मुद्दों को हिंदू-मुस्लिम की तरफ भटकाने की कोशिश

लखनऊ। तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पास