Ethiopia :येरुशलम की अध्यात्मिक पहचान मिटाना चाहता है इसराइल : महमूद अब्बास

फिलिस्तीनी Presidentयेरुशलमफिलिस्तीनी President येरुशलम

अदीस अबाबा। फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने कहा है कि इसराइली हुकूमत सोचे समझे मंसूबे के तहत अपने कब्जे वाले यरुशलम के इस्लामी फिलिस्तीनी और आध्यात्मिक पहचान को खत्म करने की साजिश कर रहा है। यह बातें महमूद अब्बास ने इथोपिया की राजधानी में एक कांफ्रेंस के दौरान कहीं।

यह भी पढ़ें :येरुशलम मामले में यूरोपीय यूनियन ने दिया फिलिस्तीन को समर्थन

इथोपिया के राजधानी अदीस अबाबा में एक कॉन्फ्रेंस से सिताब करते हुए महमूद अब्बास ने कहा…

  • इसराइल एक सोचे-समझे मंसूबे के तहत कि आध्यात्मिक पहचान को खत्म करना चाहता है।
  • इसके के लिए वह लगातार कोशिश कर रहा है।
  • येरुशलम में काबिज़ इस्राइली हुकूमत उत्तरी Jerusalem की इस्लामी और रूहानी पहचान को मिटने की कोशिश कर रहा है।
  • इसके लिए वह बेतुके कानून बना रहा है।
  • साथ ही उन्होंने कहा कि यूरोपीय यूनियन और अफ्रीकी यूनियन की जानिब से फिलिस्तीन को समर्थन तारीफ के काबिल है।
  • महमूद अब्बास का कहना था कि अफ्रीकी मुल्कों की तरफ से फिलिस्तीनी की हिमायत का वादा किया गया है।
  • साथ ही उन्होंने यह बताया कि यूरोपीय यूनियन ने अमेरिका के झूठे फैसले का समर्थन नहीं किया है।

येरुशलम इसराइल का नहीं…

  • उन्होंने यह बताया है कि Jerusalem इज़राइल का नहीं है।
  • महमूद अब्बास ने कहा कि Jerusalem के मसले को बातचीत के जरिए निपटाना चाहिए।
  • इसके लिए पूरी दुनिया को मिलकर समझाने की कोशिश करना चाहिए।
  • इस्लामी  बिरादरी व पूरी दुनिया को चाहिए कि वह इस वक्त फिलिस्तीन का साथ दें।
  • फिलिस्तीन के खिलाफ बनाए हुए अमेरिकी इसराइली कानून को खत्म करवाने की कोशिश करें।
  • उन्होंने कहा कि इस मसले में अमेरिका का रवैया एक तरफा रहा है।
  • उसने खुले तौर पर इसराइल का समर्थन किया है जो कि गलत है।
  • अमेरिका का यह तरीका साफ तौर पर भेदभाव वाला रहा है।
  • जिसने अमेरिका के उदारवादी चहरे की पोल खोल दी है।
loading...
Loading...

You may also like

RBI में नियुक्त हुए नए गवर्नर, बीजेपी सांसद ने उठाये सवाल…

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद सुब्रमण्यम