पकौड़े बनाना स्किल, 4-5 सालों में बनाया जा सकता है बड़ा बिजनेस : राज्यपाल मध्यप्रदेश

पकौड़े
Please Share This News To Other Peoples....

भोपाल। पकौड़े पर राजनीति ख़त्म होने का नाम नहीं ले रही है अब तो ऐसा लगने लगा है। देश के सभी नेता पकौड़े पर बारी-बारी से बयान देने वाले हैं। इस मामले में सभी नेता बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते नजर आ रहे हैं। ताजा बयान गुजरात की पूर मुख्यमंत्री और हाल ही में मध्यप्रदेश की राज्यपाल बनायी गयी। आनंदी बेन पटेल का है। उन्होंने पकौड़े बनाने को एक स्किल बताया है जो एक बड़ा बिजनेस भी बन सकता है।

ये भी पढ़ें:-पकौड़े बेचकर ही अमित शाह के बेटे बने रातोरात ख़रबपति : समाजवादी पार्टी 

ये भी पढ़ें:-पकौड़े पर बयान देना अमित शाह को पड़ गया भारी, मुक़दमा दर्ज….. 

पकौड़े के बयान को मध्यप्रदेश की राज्यपाल ने दिया समर्थन

मध्यप्रदेश की राज्यपाल ने भोपाल में पीएम मोदी के पकौड़े वाले बयान का समर्थन किया उन्होंने कहा कि कैसे एक शख्स जो हर रोज पकौड़ा बेच कर 200 रुपये कमाता है इसलिए उसे रोजगार माना जाए। आनंदी बेन ने कहा, ‘पकौड़ा बनाना एक स्किल है जो कि एक बड़े बिजनेस की ओर पहला कदम हो सकता है। उनके मुताबिक पीएम मोदी के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है।

मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल
मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

मध्यप्रदेश की राज्यपाल ने कहा कि अगर कोई दुकानदार अच्छे पकोड़े नहीं बनाता है तो उसके पास ग्राहक नहीं आते हैं। लेकिन ऐसा न सोचिए कि यह एक अच्छा रोजगार नहीं है। अगर वह शख्स अच्छे पकोड़े बनाता है तो अगले तीन साल में वह अपना रेस्ट्रां खोल सकता है और अगले 4-5-6 सालों में उसका अपना होटल भी खोल सकता है। बता दें कि आनंदी बेन मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में ‘गोंड महासभा’ को संबोधित कर ही थीं। जिसमें आसपास के सैकड़ों आदिवासी हिस्सा लेने आ थे।

देश की राजनीति में पकौड़े का जलवा

गौरतलब है कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि क्या अगर कोई शख्स हर रोज पकौड़ा बेच कर 200 रुपये कमाता है तो उसे रोजगार माना नहीं जाएगा। उन्होंने अपने बयान में पकौड़े बेचने को रोजगार की श्रेणी में रखा था। इस बयान पर विपक्ष के साथ और सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की काफी आलोचना हुई थी। यही नही पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने तंज कसते हुए कहा था कि अगर पकौड़ा बेचना रोजगार है तो भीख मांगने को क्या माना जाए। लेकिन इसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा में अपने भाषण में पी. चिदंबरम के इस बयान पर निशाना साधते हुए थे कहा कि कोई मेहनत करके पकौड़े बेच स्वरोजगार करता है तो क्या उसकी तुलना भिखारी से की जाएगी।

Related posts:

Rajyasabha Election : AAP ने की उम्मीदवारों के नाम की घोषणा
इन पांच अफसरों ने खोला घोटाले का खेल, लालू काट रहे हैं जेल
महराजगंज : झड़प में एसएसबी ने चलाई गोली, एक की मौत
पन्द्रह हजार का इनामी चढ़ा पुलिस के हत्थे...
सेना के बेस पर हमले के लिए रोहिंग्या मुसलमान जिम्मेदार : विधानसभा स्पीकर
यूपी बोर्ड: 31 काॅलेजों की मान्यता पर लटकी तलवार, डीआईओएस ने भेजा नोटिस
राज्यसभा के लिए कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, इन नेताओं को मिला टिकट
कैराना में 20 फीसदी कम पड़े वोट, EVM-VVPAT के ख़राब होने के पीछे EC ने बतायी ये वजह
शिवसेना ने बीजेपी के सामने रखी दो शर्तें, चक्रव्यूह में फंसे अमित शाह
मधुर भंडारकर का सनसनीखेज बयान- बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां नहीं चाहती मोदी बने पीएम
अमित शाह की बिहार यात्रा पर टिकी विपक्ष निगाहें, दौरे से तय होगा गठबंधन का भविष्य
उन्नाव रेप केस: आरोपी भाजपा विधायक के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

One thought on “पकौड़े बनाना स्किल, 4-5 सालों में बनाया जा सकता है बड़ा बिजनेस : राज्यपाल मध्यप्रदेश”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *