फिर उठा गेस्टहाउस काण्ड का मुद्दा, अब अपर्णा यादव ने दिया बड़ा बयान

गेस्टहाउस काण्डगेस्टहाउस काण्ड

लखनऊ। फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सभी मतभेदों को भुलाकर सपा-बसपा एक साथ दिखाई पड़े दोनों पार्टियों के एक साथ आने से बीजेपी को बड़ा नुक्सान झेलना पड़ा। लेकिन विरोधियों ने सपा-बसपा के एक साथ आने को लेकर गेस्टहाउस काण्ड के जख्मों फिर से ताजा करने की कोशिश की। वहीं दोनों पार्टियों ने सेक साथ मिलाकर चुनाव लड़ा अब मुलायम सिंह की छोटी बहु अपर्णा यादव का इस मामले में बड़ा बयान सामने आया है।

पढ़ें:-राज्यसभा : भासपा के बड़े ऐलान से बसपा में ख़ुशी की लहर, BJP को लगेगा बड़ा झटका 

गेस्टहाउस काण्ड पर अपर्णा यादव का सटीक जवाब

गेस्टहाउस काण्ड के आड़ में सपा-बसपा को अलग करने की कोशिश करने वालों को अपर्णा यादव ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि उस समय जिन कार्यकर्ताओं ने बसपा मायावती पर हमला किया था आज तक उन लोगों की पुख्ता तौर पर पहचान नहीं की जा सकी। न ही ये बात साफ़ हो पायी कि वह लोग किस पार्टी से थे। अपर्णा ने घटना की निन्दा करते हुए कहा कि वह इस तरह की घटनाओं के सख्त खिलाफ हैं और ये बात भी सच है कि मायावती के साथ जो कुछ हुआ उसकी क्षतिपूर्ति नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि ये भी बात साफ़ है कि गेस्टहाउस काण्ड में जो लोग भी शामिल थे वह समाजवादी पार्टी के नहीं थे।

पढ़ें:-भाजपा : योगी सरकार का एक साल ,हर वादा आधा-अधूरा 

गेस्टहाउस काण्ड के बाद करीबी ढाई दशकों के बाद सपा-बसपा एक साथ

गौरतलब है कि दोनों पार्टियां लगभग ढाई दशकों से एक-दूसरे की कट्टर विरोधी रहीं हैं। गेस्टहाउस काण्ड ने दोनों के बीच एक बड़ी खाई बना दी थी। जिसे पाटना बेहद मुश्किल था लेकिन अखिलेश ने जिस तरह दोनों पार्टियों को एक साथ लाया वह काबिले तारीफ है। वहीं दोनों के एक साथ आने से बीजेपी में बेचैनी का माहौल है और बीजेपी के नेता इस इस घटना को लेकर बसपा और सपा पर निशाना साधते रहे हैं।

loading...
Loading...

You may also like

जंगल मे मिला महिला का कंकाल

सिद्धार्थनगर। मोहाना थाना क्षेत्र के दुल्हाशुमाली के ककरहवा