मालदीव : चीन ने दिया, भारत को बड़ा झटका

चीनचीन

लखनऊ। चीन मालदीप में साझा महासागरीय वेधशाला स्टेशन स्थापित करने की राह तलाश रहा है। जोकि भारत की सुरक्षा के लिए नई चिंता पैदा कर सकता है।बता दें मालदीप के विपक्षी नेता दावा कर रहे हैं की, वेधशाला का सैन्य असर भी देखने को मिलेगा क्योंकि इसमें सबमरीन बेस बनने की भी सुविधा होगी।

Image result for मालदीव : चीन ने दिया, भारत को बड़ा झटका

यह भी जानें:-लखनऊ : बुलेरो सवारों और डाला चालक में झगड़ा, तोड़फोड़… 

भारत को नया झटका-

चीन

मालदीप के जिस मकुनुधू इलाके में यह वेधशाला बनाने की पूरी कोशिश की जा रही है जोकि भारत से बहुत दूर नहीं है। आप की जानकारी के लिए बतादें की, मालदीप की राजधानी माले के राजनैतिक सूत्रों के अनुसार इस वेधशाला से चीनियों को हिन्द महासागर के रास्ते पर महत्वपूर्ण अड्डा मिल जायेगा।

बतादें, इसके जरिये कई व्यापारिक व दूसरे जहाजों की आवाजाही भी होती है। यह भारत की समुद्री सीमा के बहुत करीब होगा। मालदीप के साथ सम्बंधो को मद्देनजर रखते हुए यह बहुत चुनौतीपूर्ण साबित होगा।

भारतीय अधिकारियों का प्रोटोकॉल-

‘प्रोटोकॉल ऑन इस्टेबलिशमेंट ऑफ़ जॉइंट ओसन ऑब्जर्वेशन स्टेशन बिटवीन चाइना एंड मालदीव्स’ के नाम से भारत के अधिकारियों ने पिछ्ले साल हुए आधिकारिक समझौते की पुष्टि की थी। तभी दोनों देशों ने मुक्त व्यापार समझौते (FTA) पर दस्तख़त भी किये थे। इस पर किसी प्रकार की टिप्पणी करने के लिए मैटर को बारीकी से समझना जरुरी है।

चीन और मालदीप का प्रोटोकॉल-

मालदीव व चीन के बीच प्रॉजेक्ट के कुछ डीटेल्स की साझेदारी हो रही है। ऐसे में मालदीव की मुख्य विपक्षी पार्टी एमडीपी के एक नेता का कहना है कि भारत के सामने चुनौती यह सुनिश्चित करने की है कि यह स्टेशन भारत को घेरने के मकसद से चीन के तथाकथित ‘स्ट्रिंग ऑफ पर्ल्स’ का ही हिस्सा न बन जाए।
भारत की समस्या यह है कि यह वेधशाला उसी से मिलता-जुलता लग रहा है जिसका ऐलान चीन ने पिछले साल दक्षिण चीन सागर के लिए किया था। उस वेधशाला का ऐलान करके चीन ने सिर्फ अमेरिका ही नहीं दुनिया के सामने दक्षिण चीन सागर में अपने नियंत्रण का दावा मजबूत किया था।
रणनीतिक मामलों के विशेषज्ञ ब्रह्म चेलानी कहते हैं कि भारत को मालदीव को ज्वलंत मुद्दे की तरह देखना चाहिए। उनका कहना है कि भारत को मालदीव एवं चीन की सरकार को इस बात की चेतावनी दे देनी चाहिए कि हम ऐसी महासागरीय वेधाशाला केंद्र को बर्दाश्त नहीं करेगा।
loading...
Loading...

You may also like

माकपा नेता का बड़ा बयान, कहा- पीएम मोदी केरल में हिंसा को भड़का रहे

नई दिल्ली। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) के एक शीर्ष