भागलपुर: नववर्ष जुलूस के दौरान दो गुटों में हिंसा, पथराव, फायरिंग के साथ बमबारी

- in क्राइम, ख़ास खबर, बिहार
भागलपुरभागलपुर

भागलपुर।  शनिवार को भारतीय नववर्ष के अवसर पर बिहार के भागलपुर में निकले जुलूस के बाद दो पक्षों में हिंसा भड़क गयी। अब तक मिली जानकारी के अनुसार हिंसक झड़प में करीब 60 लोग घायल हो गए हैं। घायलों में करीब आधा दर्जन पुलिसवाले हैं। हिंसा में दर्जनों दुकानें जला दी गईं है। इसके साथ ही मोटरसाइकिलों को भी आग लगा दी गयी और पत्थरबाजी भी की गयी है। उपद्रवियों ने फायरिंग की और चार बम भी फोड़़े। प्रशासन ने तनाव को देखते हुए इंटरनेट सेवा बंद करा दी है। कई घंटे तक पथराव, बमबाजी, फायरिंग और तोडफ़ोड़ हुई। क्षेत्र को छावनी में बदल दिया गया है। पुलिस ने स्थिति पर काबू कर लिया है।

भागलपुर: नववर्ष जुलूस के दौरान दो गुटों में हिंसा

भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर शनिवार को नववर्ष आयोजन समिति द्वारा बाइक जुलूस निकाला गया। जिसके बाद भागलपुर के चंपानगर के लोगों ने सड़क पर पथराव आरंभ कर दिया। उपद्रवियों ने जुलूस रोककर तोडफ़ोड़ करना शुरू कर दिया। आक्रमकता को देखते हुए दूसरे मोहल्लें के लोग भी हिंसा में शामिल हो गये। दोनों पक्षों में घमासान पत्थरबाजी शुरू हो गया। जिसके बाद तीन घंटे से अधिक समय तक फायरिंग, बमबारी के साथ पत्थरबाजी की गयी।  अब तक मिली जानकारी के अनुसार हिंसक झड़प में करीब 60 लोग घायल हो गए हैं।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस सांसद ने “राष्ट्र गान” में बदलाव करने की उठायी मांग 

जुलूस के दौरान आगजनी
जुलूस के दौरान आगजनी

पुलिसवालों पर हमला

बिहार के भागलपुर में शनिवार को दोपहर 3 बजे से जमकर पत्थरबाजी, गोलीबारी और बमबाजी हुई। जिसमें करीब पांच दर्जन लोगों के घायल होने की खबर है। उपद्रवियों ने पुलिसवालों पर हमला करना शुर कर दिया। जिसमें पत्थर लगने से डीएसपी और इंस्पेक्टर जख्मी हो गए। इसके अलावा नाथनगर इंस्पेक्टर ने मंदिर में छुपकर अपनी जान बचाई। बताया जा रहा है कि 15 राउंड गोलियां भी चलाई गई।  हिंसा में जिला पुलिस का एक सिपाही और एक स्थानीय व्यक्ति घायल हुए।

loading...
Loading...

You may also like

बिहार के बाद अब UP NDA में फूट, पीएम के गाजीपुर दौरे में नहीं शामिल होंगे राजभर

बलिया। बिहार में पूर्व केंद्रीय मंत्री और रालोसपा