मायूस जनता ने राजस्थान उपचुनाव में दिया बीजेपी को जवाब : मुहम्मद आफाक़

आफ़ाक़ मुहम्मद आफ़ाक़
Please Share This News To Other Peoples....

 लखनऊ। राष्ट्रीय सामाजिक कार्यकर्ता संगठन के संयोजक मुहम्मद आफाक़ ने बयान जारी किया है। उसमें कहा कि भाजपा 2014 के चुनाव में सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ पूर्व बहुमत की सरकार जनता ने इसलिए दी थी कि लोगों को रोजी-रोजगार, धन-धरती, शिक्षा-सम्मान से जोडऩे का काम शायद भाजपा सरकार करे। मगर जनता के हाथ मायूसी लगी। 2014 के चुनाव के बाद आरएसएस के निदेश पर चलने वाले भाजपा के सांसद और विधायकों का मुद्दे से भटकना और भडक़ाउ भाषण, जातिवाद हिन्दू, जनता को आपस में लड़ाने के अलावा कोई भी काम नहीं किया है।

यह भी पढ़ें :आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने घोषित किये उम्मीदवार…देखें लिस्ट…

मुहम्मद आफाक़ ने कहा कि…

  • विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लोग उत्तर प्रदेश को अपराधियों का गढ़ कहते थे।
  •  यह भी कहते थे कि यदि हमारी सरकार बनी तो अपराध मुक्त उत्तर प्रदेश होगा।
  • कहते थे कि गुण्डे और माफियाओं का ठिकाना जेल होगा।
  • मगर आज माफिया गुण्डे अपराध इस तरह कर रहे हैं।
  • जैसे कि सरकार का उन्हें संरक्षण प्राप्त हो।
  • तब ही तो अपराध चरम सीमा पर है।
  • भाजपा सरकार हिन्दू मुसलमान, राम रहीम को मुद्दा बनाकर अपनी रोटियां सेंक रहे हैं।

यह भी पढ़ें :लखनऊ : जर्जर छत गिरने से एक मजदूर की मौत…

मुहम्मद आफाक़ ने अन्त में कहा कि…

  • मुहम्मद आफाक़ ने कहा कि भारत में रहने वाले मुसलमानों को गद्दार और लुटेरा कहा जाता है।
  • उनकी बनाई हुई निशानियों को गुलामी की जंजीर बताया जाता है।
  • मगर विदेश से कोई भी राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री आता है।
  • तो यहां के मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री लाल किले को, ताजमहल को, हैदरा बाद का चारमीनार हो आदि कोई भी मुसलमानों की बनाई हुई चीजें जिससे भारत सरकार को सालाना करोड़ों रूपया पैदा होता है।
  • वही चीजें दिखाते हैं और अपने ही भारत में रहने वाले मुसलमानों को परेशान करते हैं।
  • क्यों नहीं विदेशी मेहमानों को गौशाले ले जाते हैं।
  • भारत में गौ मूत्र पेश क्यों नहीं करते हैं कि हमारे देश की यही तरक्की है।
  • इस बात को भारत की जनता को समझना होगा कि इस देश में साम्प्रदायिकता नहीं चल सकती।
  • रामराज्य को दिलों को जोडऩे के लिये किया जा सकता है।
  • तोडऩे का काम राम के मानने वाले नहीं कर सकते हैं ।
  • बल्कि उनके नाम पर आतंक और पाखण्ड मचाने वाले ही कर सकते हैं।

Related posts:

दहेज हत्या का आरोपी गिरफ्तार, भाई ने दर्ज कराया था मुकदमा
एमिटी : शिक्षकों के कौशल विकास के लिए फैकेल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम
69वें गणतंत्र दिवस पर पहली नहीं चौथी पंक्ति में बैठेंगे राहुल, कांग्रेस ने साधा निशाना
72 घंटो में 23 एनकाउंटर 3 दुर्दांत अपराधी ढेर, 34 बदमाश गिरफ्तार : डॉ. मनोज मिश्र
पोस्टर विवाद: रेणुका द्रौपदी के बीजेपी कौरव, राहुल कृष्ण की भूमिका में बचा रहे आबरू
रईस हत्याकाण्ड का मुख्य आरोपी पुलिस की गिरफ्त में...
जीत के बाद मोदी बोले- वास्तु के हिसाब से नार्थ ईस्ट सुधर जाए तो पूरा घर सही हो जाता है..
आपका आधार कहां-कहां इस्तेमाल हुआ, इस तरीके से तुरंत जानें...
गठबंधन से बीजेपी को होगा भारी नुक्सान, जानिए ज्यादा फायदा किसे..बुआ या बबुआ को
सिद्धार्थ विश्वविद्यालय : केंद्र निर्धारण में उड़ाई गई नियमों की धज्जियां
आरक्षण को लेकर अफवाहें निराधार, एससी/एसटी के लिए सरकार संवेदनशील: राजनाथ
हादसे मे घायल व्यक्ति की हुई मौत, परिवारजनों ने लगाया पुलिस पर आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *