लंच पर मिले  कांग्रेस  व राजद के युवराज, कांग्रेसी भी हैरान

नई दिल्ली ।  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी  जल्द ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान संभाल सकते हैं। इससे पूर्व राहुल गांधी अपने सहयोगी दलों के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। शुक्रवार को राहुल गांधी ने राजद नेता और बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के साथ मुलाकात दोपहर के खाने पर दक्षिण दिल्ली के एक रेस्‍टोरेंट में हुई।

हालांकि ये मुलाकात अनौपचारिक थी, लेकिन इस मुलाकात को कई कारणों से महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है। राहुल गांधी पहले लालू प्रसाद यादव से घोटाले के मामलों के कारण दूरी बनाए रखते थे, लेकिन अब उन्‍हें तेजस्वी यादव से कोई परहेज़ नहीं। राहुल भले ही लालू के साथ मंच पर भी नहीं आना चाहते हैं, लेकिन इस बैठक की फोटो जैसे ट्वीट हुई है उससे उम्मीद है कि  भविष्य में राहुल और तेजस्वी एक मंच पर दिखंगे।

इस मुलाकात को कांग्रेस के मिशन 2019 के साथ जोडक़र देखा जा रहा है। हालांकि कांग्रेस और राजद का साथ नया नहीं है, इससेप हले भी 2015 को बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ कांग्रेस-राजद-जदयू ने गठबंधन किया था।

राहुल गुजरात में इन दिनों अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। राहुल की इस  छवि को देखकर कांग्रेसी भी हैरान हैं। अब तो पार्टी के अंदर दबी आवाज में राहुल को पार्टी की कमान सौंपने की बात उठने लगी है।

पार्टी का मानना है कि राहुल अब पहले से ज्यादा पार्टी में सक्रिय हो गए हैं। वहीं राहुल अपने साथ युवा नेताओं को जोडऩे की कोशिश कर रह हैं। इसका ताजा उदाहरण तेजस्वी के साथ लंच और गुजरात में हार्दिक पटेल और जिग्नेश मेवाणी है।

राहुल ने अपने गुजरात दौरे के दौरान कई बार हार्दिक पटेल और जिग्नेश का जिक्र किया है। पटेल और जिग्नेश खुलकर कह भी चुके हैं कि वे गुजरात चुनाव में कांग्रेस का समर्थन करेंगे। राहुल बहुत जल्दी ही फ्रंटफुट पर आ गए हैं और गुजरात में मोदी को कड़ी टक्कर देते दिख रहे हैं।

loading...

You may also like

अमेठी: राहुल गांधी बोले- मेरी आंख में आंख मिलाकर जवाब ना दे सके पीएम मोदी

अमेठी। राफेल मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी