किसानों ने पुलिस पर लगाया जबरन वसूली व अभद्र व्यवहार का आरोप

लखनऊ। गोसाईगंज थाना क्षेत्र एचसीएल चौकी पर तैनात सिपाहियों के खिलाफ किसानों ने जबरन वसूली और अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है। किसानों का कहना है कि बिक्री के लिए सब्जी लदे वाहनों को आरोपित सिपाही जबरन रूकवा लेते हैं। मन-मुताबिक सुविधा शुल्क न मिलने पर आरोपित किसानों से अभद्र व्यवहार करते हैं। किसानों आरोपितों की शिकायत मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव, डीजीपी, जिलाधिकारी और एसएसपी से लिखित रूप में की है।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : हत्यारोपी को पुलिस ने दबोचा, दो फरार…

किसानों का कहना है कि…

एचसीएल चौकी आईटी हब थाना गोसाईगंज लखनऊ पर तैनात सिपाही विनय पांडेय पवन द्विवेदी और चौकी इंचार्ज सुशील त्रिपाठी लगातार किसानों का उत्पीडऩ करते हैं। जब किसान अपने खेतों से सब्जियों को टैंपू रिक्शा व डाला और ट्रैक्टर ट्राली से मंडियों को लेकर जाते हैं तो चौकी पर तैनात सिपाही व चौकी इंचार्ज चौकी पर ही रुकवा लेते हैं और किसानों से पैसा  लेने के बाद उनके संसाधनों को आगे बढऩे दिया जाता है। यदि कोई किसान पैसा देने से असमर्थता जताता है तो उसके साथ र्दुव्यवहार करते हैं। यहां तक की किसानों ने प्रदेश सरकार के द्वारा बनाए गए पोस्टर पर शिकायत की तो लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार ने मामले को संज्ञान में लिया और इसकी जांच बैठा दी। क्षेत्राधिकारी मोहनलालगंज राजकुमार शुक्ला ने पीडि़त किसानों को थाने पर बुलाकर उनके बयान दर्ज किए और जल्द ही निष्पक्ष जांच और उचित कार्यवाही का किसानों को आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : छावनी परिषद में सामने आया 40 लाख रुपये का पीएफ घोटाला

5 बार एक ही थाने में तैनाती

किसानों का कहना है कि विनय पांडेय व पवन द्विवेदी ने अपने निजी स्वार्थ के चलते 5 बार एक ही थाने पर तैनाती करवा चुके है। तभी से क्षेत्रीय किसानों को लगातार प्रताडि़त किया जा रहा है। आरोपित सिपाहियों के कहर से स्थानीय किसान सहमे रहते हैं। किसान जल्द आरोपित सिपाहियों के सामने आने से भी डरते हैं।

loading...
Loading...

You may also like

असम : फर्जी एनकाउंटर मामले में मेजर समेत 7 सैन्यकर्मियों को उम्रकैद

दिसपुर। साल 1994 में असम में 5 युवकों