गायत्री प्रजापति को नहीं मिली राहत, कोर्ट ने बढ़ाई न्यायिक हिरासत

गायत्री प्रजापतिगायत्री प्रजापति

लखनऊ। गैंगरेप के आरोप में जेल में बंद सपा नेता और पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। मंगलवार को रेप मामले में कोर्ट ने सुनवाई करते हुए आरोपी नेता की न्यायिक हिरासत को बढ़ा कर 27 अप्रैल तक कर दिया है।

पढ़ें:-मेरे सामने खड़े होने से डरते हैं पीएम नरेन्द्र मोदी : राहुल गांधी 

गायत्री प्रजापति समेत 7 आरोप कोर्ट में हुए पेश 

जानकारी के मुताबिक गायत्री प्रजापति समेत सात आरोपियों को चित्रकूट की महिला से गैंगरेप व नाबालिग के साथ दुराचार का प्रयास मामले में मंगलवार को जेल से लाकर कोर्ट में पेश किया गया। बता दें कि चित्रकूट की एक महिला के रेप आरोप को लेकर पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति पर केस दर्ज है।

इसी केस की सुनवाई के दौरान मंगलवार को प्रजापति सहित अन्य सभी आरोपियों की न्यायिक हिरासत बढ़ा दी गयी है। पॉक्सो एक्ट के विशेष न्यायाधीश विकास नागर ने सभी आरोपियों की न्यायिक हिरासत 27 अप्रैल तक बढ़ाते हुए जेल भेज दिया।

पढ़ें:- संसदीय समिति ने आरबीआई गवर्नर को किया तलब, घोटालों पर पूछेगी सवाल 

गायत्री प्रजापति के अलावा इन लोगों पर है आरोप 

गैंग रेप को अंजाम देने वालो में प्रजापति के अलावा आशीष शुक्ला, अमरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू, रूपेश्वर उर्फ रूपेश, चंद्र पाल, विकास वर्मा और अशोक तिवारी शामिल है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में किसी भी कार्रवाई पर रोक लगा रखी है।

बता दें कि चित्रकूट की महिला ने 26 अक्टूबर 2016 को कथित तौर पर गोमतीनगर थाने में गैंग रेप होने की बात करते हुए आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। जांच के दौरान पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का नाम भी प्रकाश में आया। प्रजापति को 29 अप्रैल 2017 को न्यायिक हिरासत में लिया गया था। पुलिस ने मामले में 27 जुलाई 2017 को आरोप पत्र दाखिल किया था।

loading...

You may also like

सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह के मुख्य अतिथि होंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

सिद्धार्थनगर। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थ नगर के विद्या