नव संवत्सर में बदल रही है ग्रहों की चाल, पूरा विश्व होगा खुशहाल

Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। जिस तरह से लोकसभा और विधान सभा का गठन होता है। ठीक उसी प्रकार सौर मंडल में भी ग्रहों का गठन होता है। नए वर्ष 2018 में ग्रहों की सत्ता में एक बार फिर बड़ा शुभकारी परिवर्तन होने जा रहा है। आकाशीय मंत्री मंडल के इस महापरिवर्तन में सूर्य के हाथ बड़ी जिम्मेदारी होगी। सूर्य राजा की भूमिका में होंगे तो वही उनके पुत्र शत्रु युवराज शनि मंत्री के रूप में काम करेंगे। 18 मार्च 2018 को इस परिवर्तन के बाद ग्रहों का प्रभाव शुरू हो जायेगा। ज्योतिष विद्वान नव संवत्सर पर बदल रहे ग्रहों की चाल को पूरे विश्व के लिए शुभ संकेत बता रहे है।

जय माँ वैष्णो देवी ज्योतिष तंत्र अनुसंधान एवं परामर्श केंद्र के ज्योतिषाचार्य/तांत्रिक आचार्य योगेश पांडेय ने बताया कि भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सम्बत सत्र को संचालित करने के लिए ग्रहों का एक मंत्री मंडलीय समिति गठित होता है। जिसमे कुल 10 पदाधिकारी होते है।ग्रहों का कार्यकाल एक साल का होता है, जो दैवीय होता है जिसे हम आप नही देख सकते है।

नए वर्ष 2018 में बदल रहे ग्रहों की चाल में 10 अधिकारियो में 6 अधिकारी शुभ ग्रह है। जबकि 4 विभागो के मंत्री पाप ग्रह संभाले है। ग्रह राज सूर्य को प्रधानमंत्री का पद प्राप्त हुवा है तो वही उनके पुत्र शनि को मंत्री पद मिला है।

आकाशीय मंत्री मंडल में बहुमत शुभ ग्रहों के पास होने से पृथ्वी पर सर्वत्र फसलों के अच्छे उत्पादन होंगे। किसान विशेषकर खुशहाल होंगे। ज्योतिष विद्वान आचार्य योगेश पांडेय ने बताया कि विरोधी कृत्य नांमक सम्बत्सर 2075 का शुभारंभ 18 मार्च 2018 से प्रारम्भ हो रहा है। इसी तिथि से नए हिन्दू वर्ष का शुभारंभ भी होगा।इस तिथि को चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के नाम से जाना जाता है।

भारतीय सनातनी धार्मिक व्योवस्था में विकर्मीय संवत को ही सर्वप्रधान माना जाता है।सम्बत 2075 का प्रवेश कन्या लग्न में हो रहा है। जो सर्व कल्याणकारी है।जिसका फल आम जनमानस के लिये काफी उत्तम है। स्थिर योग नामक इस महायोग में नए वर्ष की शुरुवात होने से हर तरफ खुशहाली विखरेगी। राजनैतिक स्थिरता दिखाई देगी तथा नए वर्ष में राजनीति में परिवर्तन के विशेष योग नही बन रहे है। नीच राशि का बुद्ध शासक वर्ग को अपने बड़ बोलने पर अंकुश लगाने के लिये बाध्य करेगा।भारत का देश के सभी देशो के साथ बहुत सुंदर सम्बन्ध दिखाई दे रहा है।

देश के भीतर अच्छे अच्छे योजनाओ का विस्तार होगा। महिलाओ को बहुत सम्मान मिलेगा।ग्रहों के आपसी ताल-मेल से इस वर्ष शनि-मंगल की युवती तथा राहु के साथ खड़ास्टक सबंध होने से भूकंप,भू-स्खलन आदि प्राकृतिक आपदा, मार्ग दुर्घटना की भीषण क्षति उठानी पड़ सकती है। इससे बचने के लिए सभी लोग जहाँ-तहां यग अनुष्ठान हवन कराते रहे।

Related posts:

युवा पाटीदार नेताओं के हमले से घिरी बीजेपी, गुजरात के रण में अल्पेश अहम
जीएसटी पर बोले पीएम मोदी- सरकार के सभी फैसले "लोगों के अनुकूल" और जनता के लिए हैं
प्रस्तावित Health Policy साबित होगी मील का पत्थर : सिद्धार्थ नाथ सिंह
UP Investors Summit की तैयारी तेज, विद्युत पोलों से केबिल हटाएं
गूगल पर हेराफेरी के आरोप में 136 करोड़ रुपये का जुर्माना
जदयू नेता ने राहुल की जमकर की तारीफ, कहा- नेतृत्व करने की क्षमता के उनमें ही है...
अनशन : दलितों के खिलाफ अत्याचार को लेकर राहुल और कांग्रेस नेता रखेंगे उपवास
ठगी के पैसे से इस पार्टी से लड़ा था चुनाव, गिरोह का पर्दाफाश
WhatsApp पर 25 बीजेपी विधायकों से मांगे 10-10 लाख रुपये, नहीं देने पर दी हत्या की धमकी
रेलिंग से पॉलीथिन में लटका मिला नवजात, रोजेदारों ने बचाए जान
बोल्ड तस्वीरों की दौड़ में यह हॉट अभिनेत्री भी हुई शामिल, देखें वायरल वीडियो और तस्वीरें
समाजवादी पार्टी के नेता अहमद हसन के घर को आग की लपटों ने कब्जाया ,फाइलें हुई राख

3 thoughts on “नव संवत्सर में बदल रही है ग्रहों की चाल, पूरा विश्व होगा खुशहाल”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *