जय अमित शाह की सम्पूर्ण सम्पत्ति और आय के श्रोतो की निष्पक्ष तरीके से जांच होना आवश्यक

- in आगरा, राजनीति
जय अमित शाहजय अमित शाह

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ0 मसूद अहमद ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सुपुत्र जय अमित शाह की कम्पनी पर अचानक कुछ ही समय में 16 हजार गुना सम्पत्ति की बढोत्तरी पर सवाल उठाते हुये कहा कि सम्पूर्ण सम्पत्ति और आय के श्रोतो की निष्पक्ष तरीके से जांच होना आवश्यक हो गया है क्योंकि सत्ता पक्ष सत्ता के नशे में चूर है और विभिन्न प्रकार के घोटालों को छिपाने एवं पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने में अपना सम्पूर्ण समय लगा रहा है तथा इन घोटालों और अवैधानिक कार्यो को उजागर करने वालों को धमकाने का प्रयास कर रहा है।

जय अमित शाह की सम्पूर्ण सम्पत्ति की जांच हो

डॉ0 अहमद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अभी तक अपने पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बंगारू लक्ष्मण के क्रियाकलापों का दाग धोने में सक्षम नहीं हो पायी है तथा नोटबंदी के समय देश के प्रधानमंत्री की आयोजित रैलियों में अरबों की धनराशि खर्च करने के श्रोतों का खुलासा भी नहीं कर सकी है क्योंकि नोटबंदी के समय देश की जनता अपने बुजुर्गो के इलाज के लिए तथा दो जून की रोटी जुटाने में मजदूर वर्ग परेशान रहा परन्तु भारतीय जनता पार्टी की रैलियों में असीमित धन खर्च होता रहा और विपक्षी पार्टियां तथा जनता के प्रतिनिधि इसके विरूद्व आवाज उठाते रहे।

यह भी पढ़ें : शाह की कंपनी में 51 करोड़ की राशि विदेशों से आई : राज बब्बर 

रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जय अमित शाह पर लगे आरोपों की जांच सी0बी0आई0 से कराने के आदेष देने के बजाय भारत सरकार के रेल मंत्री उनके बचाव में उतर आये हैं, जो तर्कसंगत नहीं है क्योंकि मंत्री सरकार के पक्ष में स्वाभाविक रूप से खड़े हो सकते हैं परन्तु किसी भी महत्वपूर्ण पदाधिकारी के परिवार के किसी अन्य सदस्य पर लगे आरोंपों की सफाई केन्द्रीय मंत्री द्वारा देना स्वयं आरोपो की पुष्टि करता है। यदि केन्द्र सरकार नैतिकता का परिचय देना चाहती है तो तत्काल देष के गृह मंत्री को समस्त आरोपों की जांच सी0बी0आई0 से कराने के आदेष पारित करना चाहिए ताकि देश की जनता के सामने वास्तविकता आ सके।

loading...

You may also like

राफेल डील पर ओलांद के खुलासे पर विपक्ष का हमला, कहा- पीएम ने धोखा दिया

नई दिल्ली। राफेल डील पर फ्रांस के पूर्व