8 नवम्बर: नोटबंदी में मृतकों के परिवार के लिए मुआवजे और नौकरी की मांग करेगी कांग्रेस

लखनऊ। नोटबन्दी को देश में 8 नवम्बर यानी बुधवार को एक साल पूरे हो रहे हैं। जहाँ एक तरफ इस दिन को केंद्र सरकार ने कालाधन दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है। वहीँ कांग्रेस इसके विरोध में इसे काला दिवस के रूप में मनायेगी।

इस बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अशोक सिंह ने बताया कि पीएम मोदी के नोटबंदी से 50 दिन में फायदे के झूठ और जनता को हुई। तकलीफ को लेकर कांग्रेस अपना विरोध जाहिर करेगी। इसके तहत प्रदेश में हर जगह कांग्रेस सभाओं को आयोजित करेगी। और नोटबन्दी से होने वाले नुकसान के बारे में आम जनता को जागरूक करेगी।

उन्होंने बताया कि नोटबन्दी के दौरान हुई दिक्कतों से आम जनता की हुई दु:खद मौतों को जिन लोगों ने बलिदान का नाम दिया उन प्रधानमंत्री ने लोगों की मौत पर संवेदना तक व्यक्त नहीं की। उन्होंने बताया कि हम उन मृतक बलिदानियों की आत्मा की शांति के लिए मोमबत्ती जुलूस निकालकर ईश्वर से प्रार्थना करेंगे। इसके अलावा कांग्रेस नोटबन्दी के दौरान मरने वालों के परिवारों को 25-25 लाख रूपये आर्थिक मुआवजा प्रदान किये जाने व रोजगार दिये जाने मांग करेंगे।

कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि पीएम मोदी ने लोगों को भरोसा दिलाया था और लोगों ने उनकी बात को माना लेकिन उन्होंने सबके साथ विश्वासघात किया। नोटबन्दी से कोई फायदा नहीं हुआ बल्कि इतना अधिक देश को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है कि रोजगार बन्द हो गये, विकास ठप हो गये है। ऐसे में इस दिन कांग्रेस देश के पीएम मोदी से देश की जनता के साथ किये गये विश्वासघात के लिए देश से माफी मांगने के लिए पुरजोर मांग करेंगे। इसी क्रम में लखनऊ जिला, शहर कांग्रेस कमेटी द्वारा दिन में बैठकें, नुक्कड़ सभाएं करके नोटबन्दी से होने वाले नुकसान के बारे में आम जनता को जागरूक करेगी एवं सायं 7.00बजे प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय 10 माल एवेन्यू से जी0पी0ओ0 तक मोमबत्ती जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया जायेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री राजबब्बर जी सांसद भी मौजूद रहेंगे।

loading...
Loading...

You may also like

सिपाही ने फल विक्रेता को दी गलियां, काटा बवाल, देखिये विडियो

लखनऊ। सूबे के पुलिस अधिकारी पुलिसिंग को सुधारने