CBI से कुलदीप सेंगर ने कहा- घटना के वक्त मैं उन्नाव में था ही नहीं…

कुलदीप सेंगरकुलदीप सेंगर

नई दिल्ली। उन्नाव गैंगरेप कांड में गिरफ्तारी के बाद बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआई कोर्ट ने 7 दिनों के रिमांड पर भेज दिया है। इसके साथ ही विधायक ने एक बार फिर आरोपों से इंकार किया है। सेंगर दावा किया है कि पीड़िता के आरोप गलत हैं पीड़ित लड़की ने जिस तारीख का जिक्र किया है। उस वक्त वह कानपूर में थे।

कुलदीप सेंगर ने आरोपों को गलत बताया

सीबीआई कोर्ट ने शनिवार को उन्नाव गैंगरेप काण्ड पर सुनवाई करते हुए आरोपी बीजेपी विधायक को 7 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है। इस दौरान सेंगर ने कहा कि उन्हें भगवान पर पूरा भरोसा है। उन्हें न्याय मिलेगा उन्होंने दावा किया कि पीड़िता के आरोप झूठे हैं। पीड़ित लड़की ने घटना को लेकर जिस तारीख का जिक्र किया है। उस वक्त वह कानपुर में एक बर्थडे पार्टी में पहुंचे थे।

पढ़ें:- उन्नाव गैंगरेप कांड : आरोपी विधायक की कोर्ट में पेशी, सीबीआई ने मांगी 14 दिन की रिमांड 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विधायक ने पूछताछ के दौरान सीबीआई को बताया कि वह 4 जून 2017 को रात के करीब 8 बजे कानपुर में थे।जहां वे एक दोस्त के यहां बर्थडे पार्टी में शरीक हुए थे। युवती का दावा गलत है। बर्थडे पार्टी का वीडियो फुटेज, कॉल डिटेल और सिक्योरिटी डिटेल से यह पता लगाया जा सकता है। पीड़ित युवती ने दावा किया है कि उसके साथ विधायक ने 4 जून 2017 को रेप किया था।

उन्नाव गैंगरेप कांड में दूसरी गिरफ़्तारी

बता दें कि इस मामले में शनिवार को दूसरी गिरफ्तारी हुई है। सीबीआई ने शशि सिंह नाम की एक महिला को गिरफ्तार किया। जिस पर घटना के दिन पीड़िता को बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के पास ले जाने का आरोप है। शशि सिंह पर आरोप लगाते हुए पीड़िता की मां ने यूपी पुलिस को दी गई शिकायत में कहा है कि महिला लालच देकर उसकी बेटी को विधायक के आवास पर ले गई। जहां बीजेपी नेता ने उससे कथित रेप किया। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि जब विधायक उसकी बेटी से रेप कर रहा था। उस वक्त शशि सिंह गार्ड बनकर कमरे के बाहर खड़ी थी।

loading...
Loading...

You may also like

वरिष्ठ संवाददाता ने खुद को गोली से उड़ाया

लखनऊ। तालकटोरा इलाके में एक दैनिक अखबार के