बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा- बीजेपी को हराना हमारा मकसद

बसपा
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। यूपी में होने वाले उप-चुनावों से पहले एक बड़ा राजनैतिक उलटफ़ेर होता दिख रहा है। बसपा ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में मायावती अपनी धूर विरोधी समाजवादी पार्टी को समर्थन देने का फैसला किया है। बसपा के गोरखपुर के कॉडिनेटर घनश्‍याम कंवर ने बैठक के बाद मंच से समाजवादी पार्टी को समर्थन देने का ऐलान किया। आपको बता दें कि शनिवार को मायावती के घर एक बैठक हुई है जिसमें समर्थन पर चर्चा हुई है। वहीँ अब इस गठबंधन को लेकर बसपा सुप्रीमों मायावती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि, ‘कर्नाटक के अलावा कही गठबंधन नहीं किया।

पढ़ें:-मेघालय : सरकार बनाने की जंग में बीजेपी की जीत, 6 मार्च को शपथग्रहण समारोह 

बसपा से गठबंधन की बात से इंकार

इस दौरान सपा से गठबंधन की खबर पर बोलते हुए मायावती ने कहा कि गठबंधन गुपचुप तरीके से नहीं होगा, चुनावी गठबंधन खुलकर होगा। 2019 में बसपा का ये गठबंधन बीजेपी को हराना मुख्य मकसद है और बीजेपी को हराने के लिए सपा का सपोर्ट जरूरी है। उन्होंने कहा कि ‘जरुरत पड़ी तो राज्यसभा चुनाव में भी सपा का साथ होगा

राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारेगी बसपा

इस दौरान मायावती ने बताया कि एमएलसी सपा का होगा और राज्यसभा सदस्य हमारा. वहीँ अगर एमपी में कांग्रेस को सपोर्ट चाहिए, तो वह यूपी में मदद करें.  राज्यसभा प्रत्याशी बसपा से होगा और विधान परिषद का प्रत्याशी सपा से होगा. उत्तर-पूर्व में भगवा बयार के बीच यूपी में नए समीकरण बनते नजर आ रहे हैं. बसपा गोरखपुर व फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशियों का समर्थन करेगी, आज रविवार को गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव को लेकर सपा-बीएसपी ने गठबंधन की घोषणा की है।

पढ़ें:-मायावती का गठबंधन न करने का फैसला बिलकुल सही, नहीं तो होता भारी नुक्सान 

बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती 

गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव में सपा को 28 प्रतिशत और बहुजन समाजवादी पार्टी को 22 प्रतिशत वोट मिले थे। दोनों को जोड़ ले तो ये 50 प्रतिशत वोट हो जाता है। ऐसी स्थिति में बीजेपी के लिए उपचुनाव में सपा के प्रत्याशियों को हराना बेहद मुश्किल हो जाएगा।

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटें योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद खाली हुई हैं। दोनों नेता लोकसभा से इस्तीफा देकर उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य बन चुके हैं।

Related posts:

KGMU में चल रहा चल रहा फर्जीवाड़ा, जांच कब?
मजेंटा लाइन: अनेक खूबियों से लैस है मेट्रो, पीएम दिखायेंगे हरी झंडी
स्वाति सिंह ने किसानों के पत्र पर लिया Action, जबरन जमीन अधिग्रहण को किया रद्द
कर्म में ही उसका महाफल, आत्मिक संतुष्टि के रूप में छिपा होता है
अभी मैं हूं सिंगल, इस मशहूर actress ने तोड़ी चुप्पी
कराची : पाकिस्तान में भी रंगों की धूम, मनाया गया होली का जश्न...देखें फोटो...
मायावती का गठबंधन न करने का फैसला बिलकुल सही, नहीं तो होता भारी नुक्सान
नेपाल में बांग्लादेशी एयरलाइन का विमान क्रैश, 20 की मौत
कैश की कमी को लेकर चिदंबरम ने कहा- नोटबंदी का जिन्न डराने आया है
यूपीटीईटी के अभ्यर्थियों हाईकोर्ट से राहत, सबसे बड़ी भर्ती का रास्ता साफ़
लखनऊ: पीएनबी खाता धारकों के एकाउंट से उड़ाए गये रकम, मुकदमा दर्ज
भारतीय शिक्षा में हो रहे परिवर्तन ने हमारे जीवन मूल्यों को किया कमजोर

One thought on “बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा- बीजेपी को हराना हमारा मकसद”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *