रिश्वत खाकर दर्जन भर से भी ज्यादा लोग हुए एड्स के शिकार, यूपी की घटना

रिश्वतरिश्वत

गोरखपुर। ये बात थोड़ी अटपटी लगती है कि कोई इंसान रिश्वत लेने एड्स का शिकार हो सकता है। लेकिन यहां मामला कुछ और है यहां रिश्वत पैसे की नहीं बल्कि एक अबला की इज्जत की ली गयी। जिसके बाद ये रिश्वत खोर एड्स का शिकार हो गए। ये मामला सीएम योगी आदित्यनाथ के जिले गोरखपुर का है। जहां प्रधान समेत 13 लोगों ने एक महिला का खूब शारीरिक शोषण किया। इसके बाद परिणाम यह हुआ कि पीड़िता के साथ उन दरिंदों को भी एड्स हो गया।

ये भी पढ़ें:-CM योगी के काफिले से टकराई Activa, गंभीर रूप से घायल युवतियां भर्ती 

रिश्वत की पूरी कहानी

  • ये पूरा मामला यूपी के जिला गोरखपुर का है।
  • इसकी कहानी करीब तीन साल पहले शुरू हुई।
  • जहां भटहट क्षेत्र में एक विधवा पति के मर जाने के बाद प्रधान से मदद मांगने पहुंची।
  • वह प्रधान से राशन के लिए गुहार लगाती रही।
  • लेकिन प्रधान को उसके इज्जत पर बुरी नजर पड़ चुकी थी।
  • प्रधान उसे इधर से उधर दौड़ता फिर उसकी मदद के बदले उसका शारीरिक शोषण करता।
  • इसके बाद प्रधान के सेक्रेटरी की उस पर नजर पड़ी।
  • और एक-एक कर सभी दरिंदों की उस अबला पर नियत ख़राब होती गयी।
  • लेकिन वह बेचारी करती भी क्या मजबूरी और पापी पेट उससे ये सब करावा रहा था।
  • वह चुपचाप अपना शोषण सहती है क्योंकि उसको राशन कार्ड जो चाहिए था।
  • और उसे मंरेगा में पेट पालने के लिए काम जो चाहिए था।
  • यह सिलसिला करीब 3 सालों तक चला।
  • साथ ही इस शोषण में करीब 13 लोग शामिल हो गए सभी दरिन्दे उसका शोषण करते।

ये भी पढ़ें:-राष्ट्रीय मंच से यशवंत सिन्हा ने BJP के खिलाफ छेड़ा आन्दोलन, कांग्रेस का मिला साथ 

वक्त ने दी दरिंदो को सजा

  • वह बेचारी अबला सब कुछ चुपचाप सहती रही।
  • वह धीरे-धीरे टूटने लगी लेकिन वक्त को कुछ और ही मंजूर था।
  • अब वक्त था दोषियों को सजा मिलने का था।
  • करीब तीन महीने पहले एक दिन उस महिला की तबियत कुछ ख़राब हुई।
  • जिसके बाद महिला के तथाकथित शुभचिंतक प्रधान ने उसे एक चिकित्सक से दिखाया।
  • सपटल में खून की जांच में पता चला कि महिला को एचआईवी संक्रमण हो गया है।
  • जिसके बाद रिपोर्ट बारे में सुनते ही सभी तथाकथित शुभचिंतकों के होश उड़ गए।
  • इसके बाद उसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज के एआरटी सेंटर में भर्ती कराया गया।
  • वहां जांच हुई तो रिपोर्ट में एड्स संक्रमित होने की बात की पुष्टि हो गई।
  • चूंकि, एआरटी सेंटर पर ऐसे मरीजों की काउंसलिंग की जाती है।
  • मरीज के संबंधों की पड़ताल की जाती ताकि समय रहते अन्य लोगों का भी इलाज किया जा सके।
  • काउंसलिंग के दौरान महिला ने अपने साथ हुई एक-एक बात बता दी।
  • कहानी जानकर एक्सपर्टस् भी परेशान हो उठे।
  • इन लोगों ने एक-एक कर 13 लोगों की जांच की तो पता चला कि सबको संक्रमण है।
  • अभी इन लोगों से जुड़े अन्य लोगों की जांच नहीं हो सकी है।
  • बताया जा रहा कि महिला का पति परेदस में कमाता था।
  • करीब छह साल पहले विवाह हुआ था। लेकिन शादी के तीन साल बाद ही उसकी मौत हो गई।
  • अनुमान लगाया जा रहा कि महिला को उसके पति से ही यह बीमारी मिली थी।
  • जो अनजाने में उससे अन्य लोगों में फैलता गया।
loading...
Loading...

You may also like

महानगर पुलिस के हत्थे चढ़ा मादक पदार्थ का कारोबारी, स्मैक बरामद

लखनऊ। महानगर पुलिस ने मादक पदार्थ के कारोबारी