5 स्टार में भोजन करवाने पर मचा बवाल, विपक्षी बोले केन्द्रीय मंत्री ने दलितों का खाना ठुकराया

दलितों
Please Share This News To Other Peoples....

पटना। एसटी-एससी एक्ट में बदलाव के फैसले के बाद राजनीति दल लगातार देश में दलितों को लुभाने के प्रयास में लगे हुए सभी नेताओं को दलितों की चिंता सताने लगी है। वहीं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद दलितों को खुश करने में कुछ ऐसा कर बैठे कि अब वह विपक्षियों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127वीं जयंती के मौके पर केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने दलितों को लुभाने के लिए उनको फाइव स्टार होटल में भोजन करवाया।

दलितों के साथ भोजन का पीएम मोदी ने दिया था सुझाव

बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने अंबेडकर जयंती के मौके 14 अप्रैल से 5 मई के बीच में अपने सभी केंद्रीय मंत्रियों को निर्देश दिया है कि वह दलित बस्तियों में जाएं, उनकी समस्याएं सुने और उन्हीं के साथ दिन का भोजन करें। वहीं डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127वीं जयंती के मौके पर 14 अप्रैल को केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा एससी-एसटी वर्ग के लोगों को सशक्त बनाने के लिए पटना के पांच सितारा होटल मौर्य में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद थे, मगर इस पूरे कार्यक्रम को लेकर विवाद तब हो गया जब रविशंकर प्रसाद ने फाइव स्टार होटल में दलितों के साथ दिन का भोजन किया।

पढ़ें:- उन्नाव गैंगरेप केस: कुलदीप सेंगर के गुंडे धमका रहे हैं, गांव के दो लोगों लापता 

विपक्षियों का सरकार पर हमला

इसके बाद केन्द्रीय मंत्री की दलित महिलाओं के साथ तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने गई इस पर राजद नेता तेजस्वी यादव ने पांच सितारा होटल में दलितों के साथ खाना खाने पर सवाल उठाया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, पटना के ‘चीना कोठी दलित टोला’ में गरीब दलितों के यहां खाना ठुकराने के बाद पांच सितारा होटल पहुंच छोले-भटूरे खाकर अंबेडकर जयंती पर दलित सशक्तिकरण करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद।

तेजस्वी यादव के तंज पर सवाल करते हुए रविशंकर प्रसाद ने पलटवार किया। उन्होंने ट्वीट किया, पूरे बिहार से आयी डिजिटल साक्षर SC/ST बहनों और बेटियों को अंबेडकर जयंती के दिन पटना में सम्मानित किया और उनके साथ भोजन किया। क्या ऐसी ग़रीब SC/ST बहनों को मेरे साथ बड़े होटल में भोजन करने का अधिकार नहीं है? ये मेरा सौभाग्य है कि मैंने उनका सत्कार किया और उनके साथ भोजन किया।

पढ़ें:- विधान परिषद चुनाव : BJP ने जारी उम्मीदवारों की लिस्ट, सपा-बसपा से आए नेताओं को मिला टिकट 

Related posts:

पटना महानगर कांग्रेस के आईटी सेल का गठन
वियतनाम: तूफान का कहर लाखों बेघर, 230 की मौत
चीन ने डोकलाम पर दावा, दोनों देशों के बीच फिर विवाद के आसार
मृग विहार का नाम डॉ. भीमराव आंबेडकर Mrig Vihar रखने की मांग
LUCKNOW : युवा महोत्सव में बच्चे व युवा किये गये सम्मानित...
उच्चतम न्यायालय का ममता सरकार से सवाल, एक राष्ट्र, एक पहचान में क्या गलत है
लखनऊ: प्रयाग इंटरसिटी एक्सप्रेस की महिला ने संभाली कमान, तालियों से दिया गया सम्मान
दशवी फेल दर्शन ने लगया ऐमजॉन को 1.3 करोड़ का चूना
अररिया में देश विरोधी नारेबाजी के पीछे बीजेपी की साजिश : राजद
अपनी करनी की वजह से बीजेपी की लुटिया डूबी : मायावती
बीजेपी विधायक ने कहा- मैं न मुस्लिमों से वोट मागूंगा, न ही अपने घर व ऑफिस में घुसने दूंगा
दलित नेता व कार्यकर्ताओं पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *