AIMIM प्रमुख ओवैसी बोले- मुस्लिम-दलित मुक्त देश बनाना चाहती RSS-BJP

AIMIM प्रमुख
Please Share This News To Other Peoples....

मुंबई। AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ हमला बोला है। ओवैसी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ताधारी बीजेपी और आरएसएस देश को मुस्लिम-दलित मुक्त बनाना चाहते हैं। उन्होंने आगे कहा कि हिंदुत्व की विचारधारा को थोपने की कोशिश की जा रही है। मुस्लिम और दलित इन कोशिशों के खिलाफ एकजुट हो और हिंदुत्व की विचारधारा को अस्वीकार करने के लिये आवाज उठायें।

ये भी पढ़ें:-विदेशी सरकार के काम का श्रेय प्रधानमंत्री न लें : ओवैसी 

AIMIM प्रमुख ने औरंगाबाद में बीजेपी-आरएसएस के खिलाफ खोला मोर्चा

  • ओवैसी ने ये बात महाराष्ट्र के औरंगाबाद के जनसभा के दौरान कही है।
  • इस दौरान आम खास मैदान में 40 हजार लोग मौजूद रहे।
  • AIMIM प्रमुख ने संघ पर कमजोर वर्ग को दबाने का आरोप लगाया।
  • उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में मुसलमानों और दलितों को जागरुक रहने की जरूरत है।
  • क्योंकि आरएसएस और बीजेपी मिलकर कमजोर वर्ग के लोगों को दबाने का काम कर रहे हैं।
  • एकतरफ बीजेपी देश को मुस्लिम मुक्त बनाना चाहती हैं वहीं दूसरी तरफ संघ दलित मुक्त बनाना चाहता है।

ये भी पढ़ें:-ओवैसी ने राहुल पर लगाया मुलामानो की अनदेखी का आरोप 

संघ परिवार की विचारधारा के खिलाफ हो मुस्लिम-दलित : AIMIM प्रमुख

  • AIMIM प्रमुख ने इस दौरान मुस्लिम और दलित समाज को संघ की विचारधारा के खिलाफ खड़े होने को कहा।
  • उन्होंने कहा कि संघ की विचारधारा और इनके गुरू गोलवलकर, हेडगेवार से लेकर सावरकर की तक मुस्लिमों को हिंदू बनाने की है।
  • दलित-मुस्लिम संघ की इस तरह की कोशिश के खिलाफ एकजुट हो।
    और आवाज उठायें कि हम हिंदुत्व की विचारधारा को स्वीकार नहीं करेंगे।
  • ओवैसा ने आगे कहा कि दलित मुस्लिम एकता संघ के उत्पीड़ने और भेदभाव को रोकने के लिए वक्त की जरुरत है।
  • वहीं उन्होंने इस दौरान तीन तलाक बिल को लेकर खुलकर विरोध जाहिर किया।
  • उन्होंने कहा कि तीन तलाक बिल मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है।
  • इतना ही नहीं ये समानता के अधिकार के भी खिलाफ है, ऐसे दोषपूर्ण कानून की कोई जरूरत नहीं है।
loading...

One thought on “AIMIM प्रमुख ओवैसी बोले- मुस्लिम-दलित मुक्त देश बनाना चाहती RSS-BJP”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *