संसदीय समिति ने आरबीआई गवर्नर को किया तलब, घोटालों पर पूछेगी सवाल

आरबीआई गवर्नरआरबीआई गवर्नर

नई दिल्ली। संसद की एक समिति ने आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल को 17 मई को उसके समक्ष पेश होने को कहा है। सूत्रों का कहना है कि समिति गवर्नर से हाल में सामने आए बैंकिंग घोटालों के सिलसिले में सवाल पूछेगी।

आरबीआई गवर्नर कहा था कि सार्वजनिक बैंकों से संबंधित मामलों को देखने के लिए पर्याप्त अधिकार नहीं

वरिष्ठ कांग्रेस नेता एम वीरप्पा मोइली की अगुवाई वाली वित्त पर संसद की स्थायी समिति ने मंगलवार को वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार से बैंकिंग क्षेत्र पर कई सवाल पूछे। सूत्रों की माने तो समिति ने 17 मई को आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल को उपस्थित होने को कहा है। समिति उनसे बैंक घोटालों और अन्य बैंकिंग नियमनों के बारे में जानना चाहते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी इस समिति के सदस्य हैं। वह भी बैठक में मौजूद थे। आरबीआई गवर्नर पटेल ने हाल में कहा था कि रिजर्व बैंक के पास सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से संबंधित मामलों को देखने के लिए पर्याप्त अधिकार नहीं हैं।

ये भी पढ़ें :-मेरे सामने खड़े होने से डरते हैं पीएम नरेन्द्र मोदी : राहुल गांधी

आरबीआई गवर्नर को किस तरह के अधिकार चाहिए?

एक अन्य सूत्र ने कहा कि हम यह जानना चाहते हैं कि आरबीआई के गवर्नर को किस तरह के अधिकार चाहिए। सूत्र ने कहा कि नियमन महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। यही वजह है कि गवर्नर को बुलाया गया है। सूत्रों ने बताया कि समिति ने सार्वजनिक और निजी बैंकों में सामने आए विभिन्न घोटालों पर विचार-विमर्श किया। यह पूछे जाने पर कि क्या बैठक में पंजाब नेशनल बैंक और आईसीआईसीआई बैंक का भी मुद्दा उठा। सूत्र ने बताया कि आईसीआईसीआई बैंक सहित सभी वाणिज्यिक बैंकों पर चर्चा हुई। वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने सांसदों के सवालों के कुछ ही हिस्सों का जवाब दिया। उन्हें इन सवालों पर पूरी रिपोर्ट देने के लिए तीन सप्ताह का समय दिया गया है।

loading...
Loading...

You may also like

राजस्थान चुनाव: राहुल व मोदी मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने में रहे असफल

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव में स्टार प्रचारक