प्रतापगढ़: सीएम से मिलने पहुंची मंत्री स्वाति सिंह, सुरक्षाकर्मियों ने धक्का देकर किया अपमानित

प्रतापगढ़
Please Share This News To Other Peoples....

प्रतापगढ़। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश में विकास का जमीनी स्तर पर समीक्षा कर रहे हैं। इसी क्रम में वे सोमवार को प्रतापगढ़ पहुंचे हैं। इस दौरान बसपा सुप्रीमो के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करके चर्चा में आए बीजेपी नेता दयाशंकर और यूपी सरकार में महिला कल्याण मंत्री स्वाति सिंह काे अपमान का सामना करना पड़ा है। दरअसल यहां उन्हें सीएम की सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों ने धक्का दे दिया और उन्हें सीएम से मिलने भी नहीं दिया गया।

पढ़ें:- गठबंधन के बाद पहली बार बसपा अध्यक्ष से नाखुश अखिलेश, मायावती को दे डाली ये नसीहत 

प्रतापगढ़ : नाराज स्वाति सिंह सीएम से मिले बिना जाने लगी 

जानकारी के मुताबिक सोमवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने पहुंची  स्वाति सिंह को सुरक्षा में तैनात सुरक्षकर्मी ने धक्का दे दिया। इतना ही नहीं स्वाति सिंह काे सुरक्षाकर्मियों ने सीएम से मिलने तक नहीं दिया। अपमान से नाराज स्वाति सिंह गेस्ट हाउस से जाने लगीं ताे डीएम और एसपी ने बड़ी मुश्किल से उन्हें मनाया आैर वापस लेकर आए।

पढ़ें:- प्रतापगढ़ : सीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक, काले झंडे दिखाकर सपाइयों ने की नारेबाजी 

रात यहीं गुजारेंगे सीएम योगी

सीएम योगी यहां पर में सोमवार को विकास कार्य की समीक्षा के साथ अन्य कार्य देखने के बाद रात्रि विश्राम भी करेंगे। सीएम लखनऊ से हेलीकाप्टर से पुलिस लाइन पहुंचे। वहां पर उनको गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद कार से विकास भवन पहुंचे। यहां पर योगी ने प्रतापगढ़ में अब तक हुए विकास कार्यों की समीक्षा की। विकास भवन में प्रवेश करने में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ी। विकास भवन में प्रवेश के लिए भाजपाइयों ने वहां पर काफी धक्का-मुक्की की। पुलिस लाइन से विकास भवन आते समय रास्ते में कचहरी के पास अधिवक्ताओं ने सरदार पटेल की मूर्ति सफाई न होने के विरोध में जमकर नारे लगाए।

सीएम की सुरक्षा को लेकर बड़ी चूक

जानकारी के मुताबिक प्रतापगढ़ दो दिवसीय दौरे पर प्रतापगढ़ पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में बड़ी चूक देखने को मिली। यहां पर सीएम योगी का काफिला पुलिस लाइन से निकलकर विकास भवन की ओर जाने लगा। इस दौरान रास्ते में खड़े सपा के कार्यकर्ता सडक़ पर आ गए और सीएम को काला झंडा दिखाते हुए विरोध में नारेबाजी भी की। वहीं क़ानून व्यवस्था पूरी तरह यहां पर विफल दिखाई पड़ी।

Related posts:

डीसीएम की कार्यवाही से अवैध वेंडरों में मचा हड़कंप, दो दर्जन पकड़े
KGMU में कैंसर से पीड़ित महिला को भर्ती करने से किया इंकार
पुलिस प्रताड़ना से तंग आकर दलित युवक ने लगाई फांसी
मादक पदार्थ के कारोबारी को पुलिस ने दबोचा..
वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले में पहली गिरफ़्तारी
शिक्षामित्रों की याचिका पर दो अप्रैल को इलाहाबाद हाईकोर्ट सुनाएगा फैसला
JNU में लव जिहाद पर बन रही फिल्म के स्क्रीनिंग के दौरान मारपीट
CJI महाभियोग मामला : कपिल सिब्बल ने कहा रातों रात संवैधानिक पीठ किसने बनाई
तस्करी की 250 पेटी अंग्रेजी शराब की गई बरामद, प्याज की बोरियों के नीचे थी शराब
पानी-पानी मुंबई: जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त ,बारिश जारी रहने के है आसार
यूपी-बिहार की ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट से मिलेगा छुटकारा, रेलवे ने की ये तैयारी
...तो इसलिए सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए लालू के बड़े बेटे तेज़प्रताप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *