LIVE: प्रधानमंत्री मोदी ने छात्रों को दिया परीक्षा गुरुमंत्र, कहा- “मैं हमेशा आपका मित्र हूँ”

प्रधानमंत्री मोदीप्रधानमंत्री मोदी

नईदिल्ली।  प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में परीक्षा से जुड़े समस्याओं पर चर्चा किया। साथ ही बच्चो को परीक्षा को तनावमुक्त बनाने का गुरुमंत्र दिया। प्रधानमंत्री ने कहा”मेहनत में कमी कोई नहीं करता, कमी आत्मविश्वास में हो जाती है।” कार्यक्रम में मौजूद कई स्कूल के बच्चो ने प्रधानमत्री से सवाल पूछे। प्रधानमंत्री ने बच्चों को और उनके अभिभावकों को परीक्षा सम्बन्धी सुझाव दिए। पीएम ने कहा हमारे लिए परीक्षा हर के समय होता है। साथ ही मोदी ने कहा कार्यक्रम के आप मुझे 10 में से नंबर देना।

ये भी पढ़ें:पीएम मोदी के एक फोन ने बचाई सात हजार लोगों की जिंदगी 

प्रधानमंत्री मोदी ने छात्रों को दिया परीक्षा गुरुमंत्र 

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में पीएम ने परीक्षा के संबंध में कार्यक्रम में हिस्सा लिया। उन्होंने छात्रों को कहा कि आत्मविश्वास जड़ी-बूटी नहीं है इसे खुद से कायम करना पड़ता है। पीएम मोदी ने कहा कि जीवन में सब कुछ है, लेकिन अगर आत्मविश्वास न हो तो कुछ नहीं कर सकते। मेहनत में कमी कोई नहीं करता, कमी आत्मविश्वास में हो जाती है।

छात्रों के सवालों का पीएम ने दिया जवाब

पहला सवाल दिल्ली के जवाहर नवोदय स्कूल की छात्रा ने पूछा। जो आत्मविश्वास की कमी हो जाने पर था। जिसपर प्रधानमंत्री ने कहा मेहनत में कमी कोई नहीं करता, कमी आत्मविश्वास में हो जाती है। साथ ही पीएम ने कहा जीवन में सब कुछ है, लेकिन अगर आत्मविश्वास न हो तो कुछ नहीं कर सकते। पीएम ने बताया बचपन से मेरे आदर्श स्वामी विवेकानंद जी हैं। जो आत्म विश्वास के बारे में कहते हैं मुझमे ही ब्रह्म है। ऐसा कहकर वो खुद में विश्‍वास दिलाने की बात करते थें।

परीक्षा में लगने वाले डर पर पूछे गये सवाल पर पीएम ने कहा ‘परीक्षा कोई हव्वा नहीं है, इससे डरने की जरुरत नहीं है। आप परीक्षा के पढ़ाई के समय जो दिल करता है वो करो। पीएम ने बताया हमें खुद को हर कसौटी पर कसने की आदत डालनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि अधिकतर प्रश्न परीक्षा के समय जो अनुचित दबाव बनाया जाता है, हमे उससे मुक्त रहना चाहिए। अगर हमे यह लगता है कि इस दोस्त से मिलकर हमारा मन हल्का हो जायेगा तो 10 मिनट हीं सही पर उससे मिल लीजिये। आप अपने मन को जितना साफ़ रखेंगे आपका काम उतना ही सरलता से होगा।

अभिभावकों पर पूछा सवाल

एक छात्रा ने पूछा कि अभिभावक दबाव बनाते है कि उनके पसंद के अनुसार पढ़ाई करें, ऐसा करना सही है क्या? जिसपर प्रधानमंत्री ने कहा आज मैं आपके अभिभावकों का क्लास लूँगा। उन्होंने छात्रों से कहा जब आप निर्णय लेलो कि आपको यह करना है आप अच्छा मूड देख कर अपने पेरेंट्स से बात करो। अभिभावक कभी आपसे संतुष्ट नहीं होंगे उन्हें हर परीक्षा में थोडा ज्यादा ही चाहिए। इसलिए आप अपना 100% दो और अभिभावक से दोस्ती का रिश्ता रखो।

दिल्ली के कक्षा 11 के एक छात्र ने थोडा घुमाकर सवाल पूछा। जिसपर पीएम कहा अगर मैं आपका शिक्षक होता तो आपसे कहता आप पत्रकारिता की पढ़ाई करो। क्योकि इतना घुमा कर सवाल पूछना पत्रकार बखूबी जानते हैं। यह सवाल इस  का आखरी सवाल था।

कार्यक्रम की शुरुआत शिक्षा मंत्री प्रकाश जावेडकर ने छात्रों का संबोधन करते हुए किया।जावेडकर ने कहा , छात्रों से सीधा रूबरू होने का कार्यक्रम पहले प्रधानमंत्री ने किया है। इसलिए मैं प्रधानमंत्री जी को  देता हूँ। कार्यक्रम के अंत में पीएम ने छात्रों से पूछा मुझे कितना नंबर मिलता है? जिसपर छात्रों ने एक साथ 10 में से 10 नंबर दिए।

loading...
Loading...

You may also like

विधानसभा चुनावों की मतगणना को लेकर दोनों पार्टियों में टक्कर

नई दिल्ली।मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों में मतगणना के लिए