रिपोर्ट: पीएम मोदी फॉलो करने वाले 60 फीसदी अकांउट फर्जी

पीएम मोदी
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली । देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले राजनेता हैं। इसके अलावा भारत में सबसे ज्यादा फॉलोवर्स की संख्या भी उनके पास है। दूसरा स्थान अमिताभ बच्चन का और तीसरा शाहरुख खान का है। मगर जो चीज आपको चौंका देने वाली बात सामने आई है।  वह यह कि पीएम मोदी  60  फीसदी फॉलोवर फेक हैं।

पीएम मोदी  फेक फॉलोवर की सूची में नम्बर 1, डोनाल्ड ट्रंप दूसरे स्थान पर

ट्विटर ऑडिट के बाद पता चला है कि देश के ज्यादातर नेताओं जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं।  उनके पास ट्विटर पर 60 प्रतिशत से ज्यादा फेक फॉलोवर्स हैं। इस सूची में डोनाल्ड ट्रंप, पोप फ्रांसिस और किंग सलमान जैसे नेताओं के नाम शामिल हैं।

ये भी पढ़ें :-गुजरात विधानसभा में बवाल, कांग्रेस विधायक ने बीजेपी विधायक को बेल्ट से पीटा

पीएम मोदी में 40300000 फॉलोवर फेक

ट्विटर ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार मोदी इस सूची में सबसे ऊपर हैं। उनके 24180000 फॉलोवर्स में से 40300000 फॉलोवर फेक हैं। इसमें इंटरनेट बोट्स (वास्तविक मनुष्यों के खातों के कामकाज की जांच करना) शामिल है। इस साल फरवरी 21 को यह रिपोर्ट जारी की गई थी। उस समय मोदी के ट्विटर फॉलोवर की संख्या 40.3 मिलियन यानी 4.3 करोड़ थी। जिसमें केवल 30 दिनों के अंदर 0.7 मिलियन फॉलोवर की वृद्धि हुई। फेक फॉलोवर्स की सूची में मोदी के अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हैं।

ये भी पढ़ें :-वाराणसी के युवक ने डाली पीएम मोदी की जिंदगी खतरे में, हुई गिरफ्तारी 

केजरीवाल के 51 प्रतिशत फॉलोवर फेक तो राहुल को फॉलो करने वाले 69 प्रतिशत फेक

केजरीवाल के जहां 51 प्रतिशत फॉलोवर फेक हैं वहीं राहुल को फॉलो करने वाले 69 प्रतिशत फेक अकाउंट हैं। ट्विटर ऑडिट के अनुसार तीनों नेताओं के असली फॉलोवर्स की संख्या कम है। मोदी के पास 16,191,426, केजरीवाल के पास 6,321,697 और राहुल के पास 1,715,634 असली फॉलोवर्स हैं। इस ऑडिट के अनुसार पीएम मोदी सबसे ज्यादा लोकप्रिय नेता हैं। पोप फ्रांसिस की बात करें तो उनके 48 प्रतिशत फॉलोवर फेक हैं। एक्टर से राजनेता बने रजनीकांत के पास भी 26 प्रतिशत फेक अकाउंट फॉलो करते हैं।

loading...

2 thoughts on “रिपोर्ट: पीएम मोदी फॉलो करने वाले 60 फीसदी अकांउट फर्जी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *