शोध: हृदय रोगियों के लिए तेज रफ्तार चहलकदमी लाभकारी

शोधशोध

लंदन। अगर आप हृदय रोगी हैं। तो आपके चलने की गति आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है। क्योंकि एक नए शोध में पता चला है कि हृदय रोगी अगर तेज चलते हैं। तो उन्हें अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति के जोखिम का कम सामना करना पड़ता है।

शोध में उच्च रक्तचाप से ग्रस्त 1,078 रोगियों को किया गया शामिल

इटली की यूनिवर्सिटी ऑफ फरेरा की शोधार्थी व अध्ययन की लेखिका कार्लोटा मेरलो ने कहा कि तेज चलने से अस्पताल में भर्ती होने और वहां लंबे समय तक रहने की स्थिति का जोखिम कम होता है। शोध में इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए किए गए अध्ययन में 1,078 उच्च रक्तचाप से ग्रस्त रोगियों को शामिल किया गया था। जिनमें से 85 फीसदी को कोरोनरी हृदय रोग व 15 फीसदी को वाल्व रोग था।

ये भी पढ़ें :-पीएम मोदी को दुनिया भर के 600 विद्वानों ने पत्र लिख बच्चियों से रेप पर मांगा जवाब

कम चलने की गति सीमित गतिशीलता का परिचायक

उन्होंने कहा कि चूंकि कम चलने की गति सीमित गतिशीलता का एक परिचायक है। जो कम शारीरिक गतिविधि से जुड़ा है। शोध के  आधार पर हमारा मानना है कि अध्ययन में शामिल तेज चलने वाले लोग वास्तविक जीवन में भी तेज चलते होंगे। इनमें से कुल 359 रोगियों की धीमी गति से चलने वालों, 362 की मध्यम व 357 की तेज गति से चलने वालों के रूप में पहचान की गई। निष्कर्ष के अनुसार, धीमी गति से चलने वालों की तुलना में तेजी से चलने वालों को तीन साल में अस्पताल में भर्ती होने की 37 फीसदी कम संभावना देखी गई।

चहलकदमी वयस्कों का सबसे लोकप्रिय व्यायाम

मेरलो ने कहा कि चहलकदमी वयस्कों में व्यायाम का सबसे लोकप्रिय प्रकार है। यह नि:शुल्क और बिनी विशेष प्रशिक्षण के लगभग कहीं भी किया जा सकता है। यहां तक कि छोटे अंतराल में, लेकिन नियमित चहलकदमी के काफी लाभ हैं। हमारे अध्ययन से पता चलता है कि चलने की गति में तेजी आने पर यह लाभ अधिक हो जाते हैं।

loading...
Loading...

You may also like

बिहार के जेलों में हुई एक साथ छापेमारी, आपत्तिजनक सामान बरामद

पटना। बिहार में कानून व्यवस्था को लेकर बुधवार