आतंक का मुकाबला शिक्षा के ज़रिए ही मुमकिन : शेख़ अबूबकर

शेख़ अबुबकर

तिरुवनन्तपुरम। आल इंडिया सुन्नी जमीयतुल उलेमा के महासचिव शेख़ अबूबकर मुस्लियार ने मदरसों को आतंकवाद से जोड़े जाने की सख्त अल्फ़ाज़ में आलोचना की है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद का कारन मदरसे नहीं है इल्म से दूरी है। शिक्षा की कमी के कारण आतंकवाद फल-फूल रहा है।

यह भी पढ़ें :आपका आधार कहां-कहां इस्तेमाल हुआ, इस तरीके से तुरंत जानें…   

आतंक का मुकाबला शिक्षा ज़रिये…

शेख़ अबूबकर ने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा है कि आतंक का मुकाबला शिक्षा ज़रिये ही किया जा सकता है, साथ ही उन्होंने कहा है कि सरकार को चाहिए कि वह शिक्षा को बढ़ावा दे क्योंकि आतंकवाद का मुकाबला शिक्षा बग़ैर मुमकिन नहीं है।

यह भी पढ़ें : शरद यादव को एक और झटका, वापस करना पड़ सकता है वेतन…

पिछले 40 साल से शैक्षिक सेवा अंजाम दे रहे…

साथ हे केरल के जाने-माने सूफी धर्मगुरु शेख़ अबूबकर ने बताया कि हम मदरसों के ज़रिये पिछले 40 साल से शैक्षिक सेवा अंजाम दे रहे हैं।  हमारे यहाँ शिक्षा हासिल करने वाले बच्चे देश की सेवा कर रहे हैं। शेख़ अबूबकर ने बताया कि हम स्कूल के साथ-साथ इस्लामी मदरसा भी कायम कर रहे हैं, मस्जिदों का निर्माण और गरीब लोगों की हर तरह से सहायता कर रहे हैं।

Loading...
loading...

You may also like

लोकपाल अध्यक्ष जस्टिस पीसी घोष बुधवार को दिलाएंगे सदस्यों को शपथ

🔊 Listen This News नई दिल्ली। लोकपाल अध्यक्ष