आतंक का मुकाबला शिक्षा के ज़रिए ही मुमकिन : शेख़ अबूबकर

Please Share This News To Other Peoples....

तिरुवनन्तपुरम। आल इंडिया सुन्नी जमीयतुल उलेमा के महासचिव शेख़ अबूबकर मुस्लियार ने मदरसों को आतंकवाद से जोड़े जाने की सख्त अल्फ़ाज़ में आलोचना की है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद का कारन मदरसे नहीं है इल्म से दूरी है। शिक्षा की कमी के कारण आतंकवाद फल-फूल रहा है।

यह भी पढ़ें :आपका आधार कहां-कहां इस्तेमाल हुआ, इस तरीके से तुरंत जानें…   

आतंक का मुकाबला शिक्षा ज़रिये…

शेख़ अबूबकर ने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा है कि आतंक का मुकाबला शिक्षा ज़रिये ही किया जा सकता है, साथ ही उन्होंने कहा है कि सरकार को चाहिए कि वह शिक्षा को बढ़ावा दे क्योंकि आतंकवाद का मुकाबला शिक्षा बग़ैर मुमकिन नहीं है।

यह भी पढ़ें : शरद यादव को एक और झटका, वापस करना पड़ सकता है वेतन…

पिछले 40 साल से शैक्षिक सेवा अंजाम दे रहे…

साथ हे केरल के जाने-माने सूफी धर्मगुरु शेख़ अबूबकर ने बताया कि हम मदरसों के ज़रिये पिछले 40 साल से शैक्षिक सेवा अंजाम दे रहे हैं।  हमारे यहाँ शिक्षा हासिल करने वाले बच्चे देश की सेवा कर रहे हैं। शेख़ अबूबकर ने बताया कि हम स्कूल के साथ-साथ इस्लामी मदरसा भी कायम कर रहे हैं, मस्जिदों का निर्माण और गरीब लोगों की हर तरह से सहायता कर रहे हैं।

Related posts:

नीतिन पटेल ने इस्तीफे की बात पर तोड़ी चुप्पी
मदरसा संचालक की गिरफ्तारी पर लोगों ने किया हंगामा, सीबीआई जांच की मांग...
काकोरी के डकैती पीड़ित परिवारों से आप प्रतिनिधिमंडल ने की मुलाक़ात...
अपराधियों की पैरवी में खड़े नजर आते हैं पुलिस वाले : सांसद कौशल किशोर
BJP MLA बोले- आप अल्लाह को वोट देंगे या राम को प्यार करने वालों को
LOC पार से पाकिस्तानी सेना की फायरिंग, 4 भारतीय जवान शहीद
अमेठी : बोर्ड परीक्षा देने पहुंची छात्रा अचानक हुई बेहोश, अस्पताल ले जाते समय तोड़ा दम
सूर्यग्रहण भारत में तो नहीं दिखेगा, पर प्रभाव से नहीं रहेगा अछूता
कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, कहा- ‘रमन सिंह को सोने के लिए पीना पड़ता है शराब’
जिनपिंग आजीवन बने रहेंगे राष्ट्रपति, चीन ने लगाई मुहर
राजा भइया की दोहरी रणनीति से हड़कंप, अखिलेश से किया वादा और मिलने पहुंचे योगी से
टीडीपी विधायक ने पीएम मोदी को बताया गद्दार और नमक हराम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *