पार्टी के नेता शिवपाल यादव को कर रहे अपमानित, फिर पैदा हो सकती है चाचा-भतीजे में दूरियां

शिवपाल यादवशिवपाल यादव

लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव के बीच अब रिश्ते सुधरते हुए नजर आ रहे थे। इस बात का अंदाजा हाल ही में शिवपाल दिए गए बयानों से लगाया जा सकता है। वहीं अखिलेश भी परिवार के एक होने की बात किया करते रहे हैं। लेकिन हाल ही में कुछ बातें सामने आयी हैं जो दोनों नेताओं के बीच दूरियां पैदा कर सकती हैं।

पढ़ें:- बीजेपी सांसद की धमकी- मोदी और सीएम का अपनाम किया तो दुनिया से गायब कर देंगे 

शिवपाल यादव को पार्टी के नेता नहीं दे रहे सम्मान

प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाये जाने के बाद से ही शिवपाल का पार्टी में स्तर लगातार गिरता जा रहा है। उनका ये कहना बिलकुल गलत नहीं होगा कि पार्टी में अब उन्हें कोई पूछता नहीं इसके बावजूद शिवपाल अखिलेश के साथ खड़े हैं उन्हें पूरा भरोसा है कि वे 2019 में लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास के एजेंडे पर पूरी तरह फेल है। इसका फायदा यूपी में सपा सरकार को जरूर मिलेगा।

पढ़ें:- कठुआ केस: राज्य सरकार को सुप्रीमकोर्ट ने भेजी नोटिस, CBI जांच पर नहीं हुई सुनवाई 

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल अपनी पार्टी और परिवार के लोगों से भले ही अपने रिश्ते को ठीक बता रहे हैं। लेकिन सपा नेता अभी भी उनसे दूरी बनाकर चल रहे हैं। रविवार को उनके महानगर आगमन की जानकारी सपा जिला इकाई को नहीं थी और न ही सपा का एक भी पदाधिकारी उनसे मिलने पहुंचा। साथ ही पार्टी के विधायक भी उनसे मिलने नहीं गए।

पढ़ें:- कर्नाटक कांग्रेस में टिकट को लेकर हंगामा, कई शहरों में पार्टी कार्यालय पर तोड़फोड़ 

बताया जा रहा है कि शिवपाल सपा नेता हैं, यह तो राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ से कहा जा रहा है। इसके बावजूद अखिलेश की तरफ से जिला इकाइयों को इस तरह का कोई आदेश नहीं मिला है कि वे शिवपाल के पहुंचने पर उनका स्वागत करने पहुंचे। यहां आगमन पर शिवपाल तीन कार्यक्रमाें में गए। हर जगह उनके वही समर्थक दिखे जो सपा में शिवपाल की वजह से थे और आगे भी रहना चाहते हैं।

loading...
Loading...

You may also like

महिला मित्र के साथ होटल गए दरोगा को बीजेपी पार्षद ने पीटा, वीडियो वायरल

लखनऊ। भाजपा नेताओं की दबंगई का मामला आये