ऐशबाग ईदगाह पहुंचे श्री श्री रविशंकर , खालिद राशिद फिरंगी महली से की मुलाकात

लखनऊ । अयोध्या में राम मन्दिर निर्माण मुद्दे पर शुक्रवार को आर्ट आफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर लखनऊ पहुंचेयहाँ  पर उन्होंने ने आल इंडिया  मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली से मुलाकात की।

राम मन्दिर मुद्दे पर वह  परस्पर सहमति के जरिए रास्ता निकालने के पक्षधर हैं।  श्री श्री रविशंकर ने कहा कि बातचीत के जरिए हम हर समस्या हल कर सकते हैं। अदालत का सम्मान है, लेकिन वह दिलों को नहीं जोड़ सकती। उन्होंने ने कहा यदि हमारे दिल से एक फैसला निकलते तो उसकी मान्यता सदियों तक चले।

बतातें चलें  कि बीते गुरुवार को  अयोध्या में भी वह विभिन्न धार्मिक नेताओं से मिले थे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि देश से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की जरूरत है। संस्कृति व भाईचारे को बढ़ाने के लिए परस्पर सहमति की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हम किसी भी तरह का एजेंडा लेकर नहीं चल रहे हैं। बल्कि एक रास्ता खोजने का प्रयास कर रहे हैं। अभी समय दीजिए।

श्री श्री रविशंकर ने कहा  इस मुद्दे पर बहुत जल्दबाजी न करिए। हम सबसे बात करेंगे। मुझे विश्वास है कि जब धार्मिक लोग एकत्र होंगे तो सबसे बात होगी। फरंगी महली ने कहा कि अगर दोनों ओर के नेता हर स्तर पर नियमित बैठकर बात करें तो मतभेद दूर हो जाएंगे ।

 

अयोध्या के महंतों से मिले चुके हैं रविशंकर

बतातें चलें  कि रविशंकर निर्मोही अखाडे के धीरेन्द्र दास और मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मिले थे । अयोध्या जाने से पहले वह बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले थे । रविशंकर ने कहा कि ये अभी शुरूआत है । हम सबसे बात करेंगे ।

अयोध्या मुददे के समाधान में मध्यस्थता की पेशकश की थी । दोनों ही समुदायों के कुछ संगठन उनकी भूमिका को लेकर इसे महज एक राजनैतिक स्टंट करार दिया है। उनका कहना है कि वे सुर्खियाँ बटोरने के लिए ये सब कर रहे हैं।

loading...
Loading...

You may also like

देवी लक्ष्मी के बताए इन 3 उपायों से मिलता है अपार धन

सुख, ऐश्वर्य और धन की देवी लक्ष्मी को धन शक्ति