पूर्व कांग्रेस नेता का दावा- राजीव गांधी की हत्या के लिए दी गयी थी सुपारी, इस शख्स को हुआ फायदा

पूर्व कांग्रेस नेतापूर्व कांग्रेस नेता

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व नेता और बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का बड़ा बयान सामने आया है। स्वामी ने सनसनीखेज बयान देते हुए कहा है कि राजीव गांधी की हत्या के लिए सुपारी दी गयी थी और उन्होंने इसके पीछे सोनिया गांधी का हाथ बताया है। बता दें कि स्वामी का ये बयान ऐसे समय में आया है। जब राहुल गांधी ने अपने एक बयान में कहा है कि वह और उनकी बहन प्रियंका गांधी अपने पिता के हत्यारे को माफ़ कर चुके हैं।

पढ़ें:-राज्यसभा के लिए कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, इन नेताओं को मिला टिकट 

पूर्व कांग्रेस नेता ने नलिनी के हवाले से दिया बयान

पूर्व कांग्रेस नेता स्वामी का ये बयान नलिनी के हवाले से दिया गया है। स्वामी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कई गंभीर सवाल उठाये उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने नलिनी को मौत की सजा सुनाई थी। सोनिया ने राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखी कि उसे उम्रकैद देना चाहिए। राजीव की हत्या से सबसे ज्यादा फायदा सोनिया गांधी को हुआ था। ऐसे मौके पर प्रियंका वहां चली जाती हैं। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि दोषी से सिर्फ रिश्तेदार मिल सकते हैं। ये कौन सी रिश्तेदार हैं? सोनिया ने नलिनी की लड़की का इंग्लैंड में पढ़ाई का सारा खर्चा उठाया। उन्होंने इतनी करुणा क्यों दिखाई?”

स्वामी ने आगे कहा कि क्या राजीव गांधी उनकी प्रॉपर्टी हैं? वो देश के प्रधानमंत्री थे, इसलिए उनकी हत्या हुई। इन्होंने देश के प्रधानमंत्री की नीति पर एतराज कर उनकी जान ली तो आगे कौन सही नीति बनाने की हिम्मत करेगा।

पढ़ें:-राहुल का जेटली पर हमला, कहा- PNB मामले में इस रिश्तेदार बचाने के लिए वित्तमंत्री ने साधी है चुप्पी

स्वामी ने दावों को बुनियाद देते हुए कहा कि लिबरेशन ऑफ टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम ने पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या की वजह में बताया था कि उन्होंने श्रीलंका में लिट्टे से लड़ने के लिए आर्मी भेजी थी। हालांकि राजीव गांधी केवल संसद में पारित प्रस्ताव पर एक्टिंग करते हुए कहते थे कि श्रीलंका ने एलटीटीई से लड़ने में सहायता के लिए कहा था, क्योंकि वे अकेले ऐसा नहीं कर सके।”

राजीव एक सच्चे देशभक्त थे। जो उनकी हत्या के लिए जिम्मेदार थे, उनके साथ सहानुभूति नहीं रखी जानी चाहिए। पहले नलिनी को मौत की सजा दी गई, फिर उसे घटाकर उम्रकैद में बदल दिया गया। मुझे ये समझ में नहीं आता कि जिन्होंने हमारे प्रधानमंत्री को मारा, उनको लेकर हम भावुक क्यों होने लगते हैं।

loading...

You may also like

अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह को दी खुली बहस की चुनौती

नयी दिल्ली। सीएम अरविंद केजरीवाल ने भाजपा अध्यक्ष