बिना फार्मासिस्ट की सलाह के दावा लेना हो सकता है हानिकारक : सुनील यादव

- in लखनऊ, स्वास्थ्य

लखनऊ। दवाओं के प्रति लोगों की जागरूकता बहुत जरूरी है। दवा के प्रभाव, दुष्प्रभाव, मात्रा, एक दवा का दूसरी दवा के साथ इंटरेक्शन, किस बीमारी में कौन सी दवा लेनी है। कितनी मात्रा में लेनी है। खाली पेट खाना है या फिर भोजन के बाद। कई बार लोग अपनी मर्जी से दवाएं लेना शुरू कर देते हैं जो उनके लिए काफी घातक है। यह कहना है फार्मासिस्ट सुनील यादव का।

राजकीय फार्मेसिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि मरीजों को अपनी दवाओं के बारे में जानने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लेनी चाहिए। महामंत्री डॉ. के के सचान ने बताया कि यूपी के ग्रामीण क्षेत्रों में अप्रशिक्षित लोगों द्वारा चिकित्सा व्यवसाय को काफी नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

लोग जाने अनजाने मरीजों को ऐसी दवाएं दे रहे हैं जिसका उनके शरीर पर दूरगामी नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब भी कोई रोग हो तो मरीज को चिकित्सक के पास लेकर जाएं या फिर प्रशिक्षित फार्मासिस्ट के पास। स्वयं मेडिकल स्टोर से खरीदकर दवा न लें क्योंकि ऐसा करने से रोग कम होने के बजाय बढ़ सकता है।

कार्यक्रम में मौजूद स्टेट टी बी सेल के चीफ  फार्मेसिस्ट राजेश सिंह ने टी बी मरीजों की खोज में सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि वर्ष 2024 तक भारत को क्षय रोग से मुक्त करने के लिए जरूरी है कि सभी मिलकर इस अभियान में सहयोग करें।

56 वें राष्ट्रीय फार्मेसी सप्ताह के पहले दिन उत्तर प्रदेश फार्मसी कौंसिल, राजकीय फार्मेसिस्ट महासंघ, फीपो,  डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से लोगों से अपील की है कि कोई भी दवा बिना फार्मासिस्ट की सलाह के न लें।

loading...
Loading...

You may also like

किसानों की मुश्किलों को कम करने के लिए सरकार ने किए कई महवपूर्ण फैसले: योगी

लखनऊ। धान की बिक्री करने में किसानों को