अब कॉरेस्पोन्डेन्स मोड में नहीं चलेगा टेक्निकल कोर्स : सुप्रीम कोर्ट

Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फार्मेसी, मेडिकल समेत कई कोर्स कॉरेस्पोन्डेन्स मोड से नहीं चलाये जा सकेंगे। देश की सर्वोच्च अदालत ने शुक्रवार को साफ किया है कि किसी तरह का कोई भी टेक्निकल कोर्स कॉरेस्पोन्डेन्स मोड से नहीं होगा।

इस मामले में पहले दिए गए ओडिशा  हाई कोर्ट के फैसले को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि तकनीकि शिक्षा दूरस्थ पाठ्यक्रम से नहीं उपलब्ध कराया जा सकता है। इससे पहले ओडिशा हाई कोर्ट ने टेक्निकल कोर्सेज को कॉरेस्पोन्डेन्स मोड से कराने की मंजूरी दी थी। बतातें चलें कि इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फार्मेसी, मेडिकल ऐसे कोर्सेज हैं जिसे टेक्निकल कोर्स कहा जाता है और इनके कॉरेस्पोन्डेन्स मोड पर रोक लगा दी गई है।

सुप्रीम कोर्ट ने इस पर पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के उस फैसले पर भी अपनी संस्तुति जाहिर की है, जिसमें दो साल पहले हाई कोर्ट ने कम्प्यूटर साइंस में दूरस्थ माध्यम से ली गई डिग्री को रेग्यूलर मोड में ली गई कम्प्यूटर साइंस की डिग्री को एक समान मानने से इनकार कर दिया था।

Related posts:

संख्या के आधार पर 8 राज्यों में हिंदुओं को घोषित किया जाए अल्पसंख्यक: बीजेपी नेता
‘वल्र्ड फूड इंडिया’ के उद्घाटन के मौक़े पर पीएम ने गिनाई भारतीय अचार की खूबियां....
व्यापम घोटाला : सीबीआई पेश करेगी चार्जशीट, आरोपियों की नींद उड़ी...
चीन : एक्स-रे मशीन में बैग समेत घुसी महिला, समान को लेकर थी चिंतित
लव जिहाद केस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला जल्द, तय होगा विवाह वैध है या नहीं
बसपा के पूर्व मंत्री के बेटे विकास ने गोली मारकर कि खुदखुशी
CBSE पेपर लीक: प्रदर्शनकारियों को मिला SSC छात्रों का समर्थन
1090, एंटी रोमियो और यूपी-100 सेवाएं जुड़ेगी, होगा बेहतर तालमेल
शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष का लोटन बीआरसी पर शिक्षक करेंगे सम्मानित
बीएसपी चीफ मायावती ने भी सरकारी बंगले को किया खाली
जदयू-बीजेपी में सुलह के आसार, बिहार दौरे पर होंगे अमित शाह
बीजेपी विधायक को नहीं रास आया योगी का बयान, की विवादित टिप्पणी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *