बीजेपी प्रवक्ता ने लगाई अमित शाह से गुहार, योगी के निर्णय से पार्टी हो रही है शर्मसार

बीजेपी प्रवक्ता
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। उन्‍नाव गैंगरेप को लेकर योगी सरकार चौतरफा घिरती नजर आ रही है। अभी तक विपक्ष का हमला झेल रही थी , लेकिन अब पार्टी के अंदर ही विरोध के स्वर फूटने लगे । इस मामले में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप और हत्या के गंभीर आरोप लगे हैं। जहां एक तरफ सरकार एसआईटी गठित कर निष्पक्ष जांच की बात कर रही है। तो वहीं दूसरी तरफ रेप पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत को लेकर हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान ले लिया है। विपक्ष लगातार योगी सरकार पर हमलावर है।

बीजेपी प्रवक्ता ने योगी सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठा दिए,पार्टी बैकफुट पर

इस बीच बीजेपी प्रवक्ता ने योगी सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठा दिए हैं। बीजेपी की मीडिया पैनलिस्ट दीप्ति भारद्वाज ने उन्नाव मामले में कई ट्वीट कर सरकार की कार्यशैली  पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मामले में पार्टी और सरकार की छवि को बचाने की अपील की है।

ऐसे मुद्दों पर हमारे लिए जनता को फेस सेविंग कर पाना मुश्किल

दीप्ति भारद्वाज ने कहा कि ये महिलाओं के सम्मान की बात थी। पिछले दो ​तीन दिनों में जो घटनाक्रम सामने आया, उस पर ट्वीट में मेरा रिएक्शन था। सरकार की सुस्त कार्रवाई के कारण पार्टी बैकफुट पर आ गई है। हम कार्यकर्ता हैं, हमें रोज जनता को फेस करना होता है। ऐसे मुद्दों पर हमारे लिए फेस सेविंग कर पाना मुश्किल होता है।

उन्होंने कहा कि  सरकार को तुरंत विधायक के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए था। समाज में अगर हम महिला सम्मान की बात करते हैं। तीन तलाक के मुद्दे पर हम महिलाओं की लड़ाई लड़ रहे हैं। इस दिशा में मोदीजी का एक प्लान ऑफ एक्शन है। अमित शाह  स्वयं पार्टी को इस दिशा की ओर ले जा रहे हैं।  इस तरह की कार्रवाई हमारी कथनी और करनी में अंतर दिखना शुरू हो जाता है कि हम कहते कुछ हैं और करते कुछ और हैं। ये जो अवरोध पैदा करने वाली स्थिति है, इस पर मेरा रिएक्शन था।

ये भी पढ़ें :-उन्‍नाव गैंगरेप मामला: सीबीआई जांच की याचिका स्वीकार, SC में होगी सुनवाई 

ट्विटर आदि प्लेटफार्म  हैं, जहां से हम राष्ट्रीय अध्यक्ष से कायम कर सकते हैं संवाद

अपनी बात पार्टी फोरम पर उठानी चाहिए के सवाल पर दीप्ति भारद्वाज ने कहा​ कि ट्विटर आदि प्लेटफार्म   हैं, जहां हम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष से संवाद कायम कर सकते हैं। मैं तो बहुत छोटी सी कार्यकर्ता हूं। हो सकता है कि मुझे उनसे मिलने का अवसर भी न मिले। तो जो उपलब्ध संसाधन हैं, मैं उनके माध्यम से अपनी बात पहुंचाउंगी।

दीप्ति ने कहा कि वह पार्टी का अहित नहीं सोच रही हैं। मैं पार्टी के खिलाफ नहीं ,पार्टी के हित की बात कर रही हूं। 2019 में हम चाहते हैं कि पीएम मोदी दोबारा आएं, उस अभियान में कभी कभार इस तरह की खबरों से लगा कलंक धोया नहीं जा सकता। ये डैमेज है, जो पूरी सोसाइटी को खराब कर देता है। पूरी पार्टी को बैकफुट पर ले आता है।

स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ लगे रेप के मामले वापस लेने की बात ठीक नहीं

उन्होंने कहा कि योगी अपना काम कर रहे हैं। लगातार अपराध का ग्राफ कम हो रहा है, महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी काम हो रहा है। लेकिन इस मुद्दे पर रेप पीड़िता ने जिस तरह का बयान दिया है या कल स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ लगे रेप के मामले वापस लेने की बात है। इस तरह की त्वरित कार्रवाईयां, जिसमें आरोपी को बचाना दिखे।

दीप्ति भारद्वाज  बोली आखिर राजनीति की गिरावट कहां तक जाएगी

हमें समाज में कमजोर मानी जाने वाली महिला के साथ खड़ा होना चाहिए। एक रसूखदार व्यक्ति को बचाने के लिए हम रेप पीड़िता की सुनवाई भी न करें तो यह ठीक नहीं है। ये समाज में विकृति पैदा करता है। उन्होंने कहा कि आखिर राजनीति की गिरावट कहां तक जाएगी। गिरने का भी कोई स्तर तक तय करना पड़ेगा।

Related posts:

Swiss Couple मारपीट मामला: सुषमा ने योगी को किया तलब
‘मेरा श्याम सज गया है सेल्फी उतार लो’ धूमधाम से मना 20वां श्री श्याम जन्मोत्सव
प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर कानून बनाने का फैसला ऐतिहासिक, शिक्षा माफियाओं पर लगेगी लगाम: शलभ मणि ...
भविष्यवाणी : जाने साल 2018 क्यूँ होगा सबसे डरावना
झड़ते बालो की ऐसे करें देखभाल 
मरीन ड्राइव पर दौड़ा रहे थे स्कूटी, स्टंट में छात्र की मौत
गुजरात में आ रही है कांग्रेस की आंधी: राहुल गांधी
साल के पहले दिन ही रेंग-रेंग कर चला ट्रेफिक, घण्टों जाम में फंसे रहे लोग
Full dress रिहर्सल Helicopter पुष्प वर्षा के साथ दिखा देश भक्ति का जोश
RSS प्रमुख ने ठोका दावा, कहा- ‘सेना को लगेंगे 6-7 महीन, हमे बस 2 दिन चाहिए’
दहशत फ़ैलाने वाला तेदुआ मारा गया, FIR दर्ज कराएगा वन विभाग
सुध न लेने पर प्रदर्शनरत किसानों ने तहसील में घुसकर की तोडफ़ोड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *