उन्नाव रेप केस : CBI कोर्ट में पीड़िता का बयान दर्ज, MLA पर से हट सकता है पोक्सो एक्ट

उन्नाव रेपउन्नाव रेप

लखनऊ। उन्नाव रेप मामले में मंगलवार को पीड़िता ने सीबीआई की विशेष अदालत में न्यायाधीश के सामने अपना बयान दर्ज कराया है। पीड़िता के बयान को अदालत ने सेक्शन 164 सीआरपीसी के तहत दर्ज किया है। इसके बाद अदालत के बाहर निकलते समय पीड़िता ने मीडिया से कहा कि वह सीबीआई की जांच से संतुष्ट है। उसे उम्मीद है कि उसे न्याय मिलेगा।

पढ़ें:- बीजेपी सांसद की धमकी- मोदी और सीएम का अपनाम किया तो दुनिया से गायब कर देंगे 

उन्नाव रेप मामले में विधायक पर हट सकता है पोक्सो एक्ट

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उन्नाव रेप मामले में पीड़िता का जो मेडिकल टेस्ट कराया, उसमें पता चला है कि वह नाबालिग नहीं है। सोमवार को रेप पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट सीबीआई कोर्ट में पेश की गई. वहीं कहा जा रहा है कि आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर पर पॉक्सो एक्ट हट सकता है क्योंकि बालिग़ लड़की से रेप के मामले में इस एक्ट नहीं लगाया जा सकता है।

पढ़ें:- कर्नाटक कांग्रेस में टिकट को लेकर हंगामा, कई शहरों में पार्टी कार्यालय पर तोड़फोड़ 

डॉक्टर ने बताया लड़की नाबालिग

इस मामले से जुड़े डॉ एसके जौहरी का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें कहा गया हैं कि पीड़िता का मेडिकल टेस्ट उन्होंने किया था। डॉक्टर के मुताबिक 22 जून 2017 को पीड़िता का एक्सरे उम्र के लिए किया था। इसके लिए उन्हें सीएमओ से निर्देश मिला था। उन्होंने बताया कि पीड़िता को कांस्टेबल रूबी सिंह लेकर आई थी।

डॉक्टर ने वीडियो में बताया है कि मैंने दाहिने घुटने, कलाई व कोहनी का एक्सरे किया था। रिपोर्ट के अनुसार पीड़िता के सभी ​हड्डियों के जोड़ आपस में जुड़ चुके हैं। इसलिए उन्होंने पीड़िता की उम्र मुआयने के समय 19 वर्ष से अधिक बताई थी। वह रिपोर्ट मैंने कांस्टेबल रूबी सिंह को सौंपकर सीएमओ को भेज दी थी।

loading...
Loading...

You may also like

3 राज्यों में कांग्रेस की वापसी, भाजपा की रवानगी का स्पष्ट सन्देश है- प्रमोद तिवारी

लखनऊ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने