अमेरिका ने शुरू की पाकिस्तान पर सख्त कारवाई…

अमेरिकाअमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका ने अपने एक दिन पहले किये हुए एलान पर अमल करते हुए आज पाकिस्तान की सिक्यूरिटी सहायता रोक दी है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय का कहना है कि आतंकी नेटवर्क के खिलाफ कार्रवाई न इ के सबब हम पाकिस्तान की सभी रक्षा सहायता बंद कर रहे है। हम पाकिस्तान को बताना चाहते हैं कि अगर वह हमारा साथ नहीं देता तो हालात पहले जैसे नहीं रहेंगे।

यह भी पढ़ें :अमेरिका ने पाकिस्तान पर की सख्ती, 48 घंटे में होगी सख्त कार्रवाई…

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने सख्त लाफाज़ में कहा है कि…

जब तक पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क व अफ़ग़ान तालिबांन के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता सहायता बंद रहेगी।

हम हक्कानी नेटवर्क और तालिबान के खिलाफ लाचार कारवाई के सबब यह मदद रोक रहे है।

इन नेटवर्क ने इलाके में अमेरिकी फ़ौज को निशाना बनाया है।

साथ ही इलाके में हिंसा फैला कर यहाँ के लोगो का जीना दुश्वार किया है।

साथ अमेरिका ने यह भी कहा है कि अगर निर्णायक कार्रवाई होती है सहायता दुबारा की जा सकती है।

यह भी पढ़ें :जाधव का पाकिस्तान प्रायोजित वीडियो जारी, दबाव में यह कहलवाया गया…

जानकारों की नज़र में अमेरिका की सख्ती की वजह…

जानकारों का मानना है कि अमेरिका की सख्ती की वजह आतकवाद तो है।

साथ ही पाकिस्तान का अमेरिका येरुशलम मुद्दे पर साथ न देना भी इस सख्ती की ख़ास वजह है।

इसके अलावा 41 इस्लामी मुल्को के गठबंधन में शामिल होना भी इसकी ख़ास वजह बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें :ट्रम्प ने कहा पकिस्तान की सहायता कर हमने की बेवकूफी, बौखलाया पाक…

41 इस्लामी मुल्कों का गठबंधन की बागडोर पाकिस्तान के हाथ…

आपको मालूम हो की हाल ही में 41 इस्लामी मुल्कों का गठबंधन वजूद में आया है।

इस गठबंधन की कयादत पाकिस्तान को मिली है।

इस गठबंधन का ख़ास मकसद येरुशलम मुद्दे पर फिलिस्तीन का साथ देना है।

 

 

loading...

You may also like

पं. दीनदयाल उपाध्याय की जन्मस्थली की उपेक्षा 

सियाराम पांडेय ‘शांत’ जनसंघ के संस्थापक और एकात्म