एटीएस ने तीन लाख भारतीय जाली नोटों के साथ दंपति को किया गिरफ्तार

- in क्राइम, लखनऊ

लखनऊ। प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने तीन लाख के भारतीय जाली नोटों के साथ शुक्रवार को एक महिला को गिरफ्तार किया। बाद में महिला के बयान के आधार पर उसके पति को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

महिला अभियुक्त अनीता की गिरफ्तारी गाजीपुर जिले के गहमर रेलवे स्टेशन के बाहर से की गई। पूछताछ में उसने बताया कि वह अपने पति के कहने पर जाली नोट लेने गई थी। उसके इस बयान के बाद पति घनश्याम गुप्ता पुत्र स्व. केदारनाथ को एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों बांदा जिले के अतर्रा थाना क्षेत्र में बांदा रोड स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज के पास के रहने वाले हैं। एटीएस को जाली नोटों के कारोबार के बारे में खुफिया जानकारी मिली थी। जिसके आधार पर पिछले कई दिनों से टीमें लगी हुई थीं।

मालदा पश्चिम बंगाल से मिले थे जाली नोट

गिरफ्तार महिला अनीता ने बताया कि उसका पति भारतीय जाली नोटों का व्यापार करता है और कई बार जेल जा चुका है। उसने यह भी बताया कि वह अपने पति के कहने पर ही नोट लेने गई थी। वह बरामद जाली नोट मालदा (पश्चिम बंगाल) से लेकर आ रही थी। उसने यह भी बताया कि वह वहां पर 1.20 लाख रुपये लेकर गई थी जिसके बदले उसे 3 लाख के जाली नोट मिले थे। इसमें दो हजार के 118 नोट व पांच-पांच सौ के 128 जाली नोट थे। उसने यह भी बताया कि वह पति के साथ मिलकर यह कारोबार करती है, जिसमें कुछ अन्य रिश्तेदार भी शामिल हैं और वे भी कई बार जेल जा चुके हैं। पूछताछ में कुछ अन्य लोगों के नाम भी सामने आए। दोनों के विरुद्ध एटीएस के लखनऊ थाने में धारा 489 की धारा ‘क, ‘ख व ‘ग के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

पढे:- मलिहाबाद में पुरानी रंजिश में होमगार्ड के बेटे की गोली मारकर हत्या

घनश्याम है लंबा आपराधिक इतिहास

एटीएस ने गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों से पूछताछ करके उनके अन्य साथियों के बारे में जानकारी जुटाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। पूछताछ में यह पता लगाने की कोशिश भी की जाएगी कि वे इन जाली नोटों का प्रयोग कैसे करते थे? एटीएस के एसएसपी जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि दोनों को गिरफ्तार करने वाली एटीएस की लखनऊ टीम में इंस्पेक्टर दिनेश्वर पांडेय, सब इंस्पेक्टर सुरेश गिरी, हेड कांस्टेबल शिवपाल सिंह व राजबब्बर सिंह तथा कांस्टेबल कपूरचंद पटेल, शरद मिश्रा, अभिषेक, प्रशांत वर्मा व प्रियंका दूबे शामिल रहीं। एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त घनश्याम गुप्ता का लंबा आपराधिक इतिहास है। बांदा जिले के अलग-अलग थानों में उसके विरुद्ध 12 मुकदमे दर्ज हैं। जिसमें एनडीपीएस एक्ट व गुंडा एक्ट के मुकदमे भी हैं।

loading...
Loading...

You may also like

CM की तबियत का हाल लेने पहुंचे ‘राहुल गांधी’ व ‘मनमोहन सिंह’

चंडीगढ़। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री