कैसे बढ़ाएं अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट, वह सब कुछ जो आपके लिए जरूरी है

- in व्यापार

क्रेडिट कार्ड वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए दुनिया भर के लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एक कारगर इंस्ट्रूमेंट है। आज से बीस साल पहले क्रेडिट कार्ड इतना पॉपुलर नहीं हुआ था जितना की आज है। जब भी किसी को क्रेडिट कार्ड जारी किया जाता है तो उसके कार्ड पर एक निश्चित लिमिट होती है। आपको बता दें कि बैंक की ओर से हर ग्राहक की क्रेडिट लिमिट बढ़ाई जा सकती है अगर उसका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, इससे ग्राहक को लोन लेने में मदद मिलती है।

असल में क्रेडिट लिमिट कितना हो यह बहुत हद तक आपकी सैलरी पर निर्भर करता है। हालांकि, यह भी है कि एक ग्राहक से दूसरे को दी गई क्रेडिट लिमिट अलग-अलग होती है। हम आपको इस खबर में बता रहे हैं कि अगर आपको अपनी क्रेडिट लिमिट बढ़वानी है तो उसके लिए क्या करना होगा।

बैंक क्रेडिट लिमिट निर्धारित कैसे करते हैं?

दरअसल, ग्राहक की क्रेडिट लिमिट तय करने से पहले बैंक पूरी सावधानी बरतते हैं। इसके लिए बैंक क्रेडिट हिस्ट्री, आय, पेंडिंग लोन और अन्य क्रेडिट कार्ड पर सीमाओं की जांच करके ग्राहकों की क्रेडिट लिमिट तय करते हैं।

अगर आपने समय पर पेमेंट किया है तो आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ाने में आपका सिबिल स्कोर बहुत मायने रखता है, यदि आप लोन पर डिफ़ॉल्ट न हुए हों तो आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ सकती है।

कैसा बढ़ेगी क्रेडिट लिमिट:ज्यादा क्रेडिट लिमिट के लिए कोई दूसरा तरीका नहीं है, बशर्ते आपको अपना क्रेडिट स्कोर अच्छा रखना होगा। जब आप क्रेडिट लिमिट को बढ़ाने के लिए जाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि वह आपकी सैलरी की तीन गुने से ज्यादा न हो। अगर आपके पास ज्यादा खर्च है तो आपको एक दूसरे क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना चाहिए।

कैसे चेक करें कि आपका क्रेडिट लिमिट बढ़ी या नहीं:आप किसी भी समय बैंक एप से या ऑनलाइन अपनी क्रेडिट लिमिट के बारे में जानकारी ले सकते हैं। इसके अलावा आप बैंक के कस्टमर केयर में भी फ़ोन कर क्रेडिट लिमिट के बारे में पूछ सकते हैं। हालांकि, बैंक आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ाएगा या नहीं यह बैंक पर निर्भर करता है। 

loading...
Loading...

You may also like

समीर अग्रवाल बने वालमार्ट इंडिया के मुख्य कारोबारी अधिकारी

खुदरा क्षेत्र की प्रमुख वैश्विक कंपनी वालमार्ट इंडिया