गोकर्णेश्वर महादेव मंदिर का जिक्र पवित्र ग्रंथ गीता में

- in धर्म
Loading...

भारत में अलग-अलग तरह के मंदिर हैं, जो अपनी मान्यताओं व प्रचलित कथाओं के चलते देश भर में जाने जाते हैं। ऐसा ही एक मंदिर मथुरा में स्थित है, जिसका नाम गोकर्णनाथ मंदिर है।

इस मंदिर का जिक्र पवित्र ग्रंथ गीता में भी है। मान्यता के मुताबिक गोकर्णेश्वर महादेव का यह मंदिर द्वापर युग के वक्त का है।

हम आपको बताने जा रहे हैं गोकर्णनाथ महादेव की कहानी से जुड़ी रोचक बातें। मंदिर में मौजूद शिव की मूर्ति महाकाल का रूप बताई जाती है। भगवान शिव को मथुरा का क्षेत्रपाल कहा जाता है, क्योंकि मथुरा के चारों कोनों पर भोलेनाथ के चार मंदिर हैं।

पूर्व दिशा में पिघलेश्वर, पश्चिम दिशा में भूतेश्वर, दक्षिण दिशा में रंगेश्वर महादेव और उत्तर दिशा में गोकर्णेश्वर महादेव का पुराना मंदिर है। गोकर्णेश्वर मंदिर टीले पर बना हुआ है।

इस कारण से टीले को गोकर्णेश्वर व कैलाश कहते हैं।

 

 

Loading...
loading...

You may also like

मुख्य न्यायाधीश बोले- ये ज़मीन का केस है, धर्मग्रंथ सुनाने की जगह सबूत दीजिए

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। अयोध्या