माँ और जाधव के बीच पाकिस्तान ने बनाई शीशे की दीवार, दुनिया भर में आलोचना

जाधवजाधव

इस्लामाबाद। यहाँ 22 महीने से बंद भारतीय कुलभूषण जाधव की मुलाकात आज उनकी माँ और बीवी से हुई। इस मुलाक़ात के तरीके पर पूरी दुनिया में पाकिस्तान की आलोचना हो रही है। दरअसल जाधव और उनके परिवार के दरम्यान पाकिस्तान ने एक शीशे की दीवार स्थापित कर रखी थी जिससे जाधव अपनी माँ या पत्नी को छू न सकें। मुलाक़ात  दौरान दोनों तरफ फ़ोन से बात हुई, यह पूरी मुलाक़ात एक वीडियोकॉल जैसी रही।

यह भी पढ़ें : भारतीय उच्चायोग पहुंचा कुलभूषण जाधव का परिवार,मिला 30 मिनट का समय

22 मिनट की मुलाक़ात में अपनी माँ को छू भी नहीं सके जाधव…

इस मुलाकात के दौरान भारत के उप उच्चायुक्त मौजूद थे।

हालांकि कुलभूषण को काउंसलर एक्ससे नहीं मिला।  इस कारण शीशे के पीछे से उन्हें अपनी मां और पत्नी से बात करनी पड़ी।

पाकिस्तान सरकार ने उस मुलाकात के दौरान कई कैमरे लगा रखे थे।

22 महीने बाद हुई मुलाकात के दौरान एक मां अपने बेटे को छू नहीं सकी। पाकिस्तन ने मुलाकात की तसवीरें जारी की है।

यह भी पढ़ें : जाधव को मिलीं राजनयिक मदद, दावे को भारत ने किया खारिज

फिर भी जाधव ने दिया पाकिस्तान को धन्यवाद…

इस मुलाकात के बाद कुलभूषण का एक वीडियो भी जारी किया गया है, जिसमें उन्हें पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया कहते हुए दिखाया गया है।

हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान के दबाव में उन्हें ऐसा किया।

उधर, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस मुलाकात पर एक प्रेस कान्फ्रेंस कर सफाई पेश की है।

प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा है कि मानवीय आधार पर यह मुलाकात करायी गयी।

उन्होंने कहा कि यह एक मानवीय मुलाकात थी, न कि काउंसलर एक्ससेस।

हमने कुलभूषण के आग्रह पर मुलाकात का समय 10 मिनट बढ़ा दिया।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने शीशे की दीवार पर यह भी सफाई दी है कि हमने पहले ही कह दिया था कि यह मुलाकात होगी।

मुलाक़ात के दौरान सुरक्षात्मक बैरियर(शीशे की दीवार) दोनों पक्ष के बीच होंगी।

loading...
Loading...

You may also like

पत्रकार खशोगी के लापता होने पर चौतरफा घिरा सऊदी, ट्रंप ने दी चेतावनी

नई दिल्ली। तमाम आशंकाओं को दरकिनार करते हुए