गाजीपुर : दिन दहाड़े बुजुर्ग महिला की हत्या से सनसनी

हत्याहत्या

लखनऊ। गाजीपुर थाना क्षेत्र में बुधवार दोपहर घर में अकेली बुजुर्ग महिला की बदमाशों ने हत्या कर लूटपाट की,  शाम को नौकरानी पहुंची तब हत्या का पता चला।  गाजीपुर थाने  की कालोनी में हुई संगीन वारदात की खबर से सनसनी फैल गई। कॉलोनी के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालकर दो संदिग्ध व्यक्तियों को पुलिस ने चिह्नित किया है। वारदात की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

दिन दहाड़े हुई हत्या से सहमे लोग

सरकार के लाख दावों के बावजूद उत्तर प्रदेश में अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहा। अब तो अपराधियों के हौसलें इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि वह दिन दहाड़े भी वारदात को अंजाम देने से नहीं चूकते।  घटना की खबर के बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक नगर ट्रांस गोमती हरेंद्र कुमार ने बताया कि इंदिरानगर के सेक्टर-11 में एकता पार्क के सामने स्थित आवास में रहने वाली लक्ष्मी वार्ष्णेय (74) की उनके ड्राइंग रूम में हत्या कर दी गई। सिर पर ठोस वस्तु से चोट के निशान थे। आशंका है कि बदमाशों ने गला दबाने के साथ सिर पर वार करके हत्या की। इसके बाद इत्मीनान से सेफ व लॉकर खंगाले।

नौकरानी के आने पर  वारदात का पता चला

नौकरानी नेहा ने बताया कि वह बुधवार सुबह 9:30 बजे खाना पकाने के साथ अन्य काम करके चली गई थी। उस वक्त घर में लक्ष्मी वार्ष्णेय व उनके बेटे नितिन थे जबकि बहू मायके गई हुई है। शाम छह बजे खाना पकाने आई तो मुख्य दरवाजा भीतर से बंद था। सीढ़ी की तरफ के दरवाजे से घर में पहुंची तो ड्राइंग रूम में लक्ष्मी का खून से लथपथ शव पड़ा था। नितिन का कहना है कि वह खाना खाने के बाद 10:30 बजे ड्यूटी पर निकल गया था।

बदमाशों ने किसी बहाने से खुलवाया दरवाजा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार का मानना है कि जिस तरह वारदात अंजाम दिया गया उससे लगता है कि लक्ष्मी से किसी बहाने से दरवाजा खुलवाया गया था। ड्राइंग रूम तक आसानी से पहुंचने के बाद बदमाशों ने उन पर हमला किया। जान बचाने की कोशिश में उनकी चूड़ियां टूट गई थीं।

 

loading...
Loading...

You may also like

सरेराह दो युवकों के अपरहण की सूचना से हलकान रही पुलिस

लखनऊ। राजधानी के हाई सिक्योरिटी जोन में स्थित