धारा 377: क्या समलैंगिक-ट्रांसजेंडर्स विवाह को आजादी मिलेगी

धारा 377
Please Share This News To Other Peoples....

सुप्रीम कोर्ट समलैंगिकता को अपराध घोषित करने वाली भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 377 पर अपने पुराने फैसले की समीक्षा करने के लिए राजी हो गया है। समलैंगिकता अपराध है या नहीं, यह तय करने का काम अब सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की संविधान पीठ करेगी। हालांकि बुधवार को संविधान पीठ सिर्फ ये तय करेगी कि ये याचिका सुनवाई योग्य है या नहीं।

कौन-कौन है संवैधानिक बेंच में

  • इस मामले की सुनवाई जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए एम खानविलकर ,
  • जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच कर रही है।

ये भी पढ़े :LGBT:धारा 377 के अंतर्गत समलैंगिक विवाह संबंध पर समीक्षा करेगा सुप्रीम कोर्ट

क्या है धारा 377

  • आईपीसी की धारा 377 के अनुसार यदि कोई वयस्‍क स्वेच्छा से किसी पुरुष, महिला ,
  • पशु के साथ अप्राकृतिक यौन संबंध स्थापित करता है तो,
  • वह आजीवन कारावास या 10 वर्ष और जुर्माने से भी दंडित हो सकता है।
  • आईपीसी की इस धारा से संविधान के अनुच्छेद 14 और 21 के उल्लंघन ,
  • मौलिक अधिकारों के हनन का हवाला देते हुए
  • समलैंगिकता की पैरोकारी करने वाले नाज फाउंडेशन ने दिल्ली हाई कोर्ट में इसे खत्म कने की मांग की।

2013 के फैसले पर फिर से विचार

  • चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने इस मामले पर कहा ,
  • सुप्रीम कोर्ट धारा 377 की संवैधानिक वैधता पर दोबारा विचार करेगी।
  • बेंच ने यह भी कहा,
  • ‘अपनी पसंद का इस्तेमाल करने वाले कुछ लोगों को डर की स्थिति में नहीं रहना चाहिए।
  • लोगों का चुनाव कानूनी सीमा से बाहर नहीं होना चाहिए,
  • कानून की सीमाएं भी संविधान में अनुच्छेद 21 के तहत मिले,
  • अधिकारों में कटौती करने वाली नहीं होनी चाहिए।

ये भी पढ़े :तोगड़िया रो पड़े, अस्पताल में लगा मोदी विरोधियों का जमावड़ा

मामले में क्या हुआ था

  • इस मामले में 2009 में दिल्ली हाईकोर्ट ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटाने का फैसला दिया था,
  • जिसे केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी,
  • 2013 में हाईकोर्ट के आदेश को पलटते हुए,
  • समलैंगिकता को आईपीसीकी धारा 377 के तहत अपराध बरकरार रखा।
  • दो जजों की बेंच ने इस फैसले पर दाखिल पुनर्विचार याचिका भी खारिज कर दी थी।

 

Related posts:

अनमोल बेटियों ने किया द्वादश ज्योर्तिलिं के दर्शन
सुषमा की कोशिश लाई रंग, सऊदी में फंसी गुरबख्श की होगी घर वापसी...
43 वां एआईएससी सम्मेलन एलयू में, नव-उदारवाद, उपभोगवाद व संस्कृति पर होगा मंथन
विधेयक पास कर सकती है केंद्र सरकार
पीएम मोदी के एक फोन ने बचाई सात हजार लोगों की जिंदगी
थम नहीं रहा राजधानी में अपराध, आरएसएस कार्यकर्ता समेत चार घरों में चोरी...
शेयर बाजार: Sensex में भारी गिरावट, निवेशकों को लगा बड़ा झटका
टीबी जैसे रोगों को बढ़ावा दे रहा एन एच 233 का उड़ता हुआ धूल
12 साल की छोटी चिड़िया लैरी ने मचा रखा पूरे विश्व में तहलका
राज्य मंत्री बनते ही बदले संत के सुर, नर्मदा घोटाला रथ यात्रा रद्द
यूपी की बीजेपी सरकार में होगा बड़ा फेरबदल, कई नेताओं की जाएगी कुर्सी
यह जूस पीने से शरीर में नहीं होगी कैल्शियम और खून की कमी, वजन भी होगा कम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *