बच्चों को आगामी दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के नियमों में ढील का लिया निर्णय

- in राष्ट्रीय, शिक्षा
सीबीएसई परीक्षा

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) ने आतंकवाद व नक्सलियों से मोर्चा ले रहे और लड़ाई में शहीद हुए जवानों के बच्चों को राहत दी है। इसके तहत ऐसे बच्चों को आगामी दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के नियमों में ढील देने का निर्णय लिया है।

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक श्याम भारद्वाज के अनुसार, पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद सीबीएसई ने 2019 में सशस्त्र बलों और अर्धसैनिक बलों के शहीद जवानों के बच्चों को कुछ छूट देने का निर्णय लिया था। वहीं, वर्ष 2020 में सशस्त्रबलों और अर्धसैनिक बलों के ऐसे जवान जो देश में आतंकवाद व नक्सलियों के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं या सेवा के दौरान शहीद हो गए हैं, उनके बच्चों को परीक्षा नियमों में ढील देने का फैसला किया है।

परीक्षा केंद्र बदलने की इजाजत : इस श्रेणी के बोर्ड परीक्षार्थी अगर शहर में अपना परीक्षा केंद्र बदलवाना चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने की इजाजत होगी। साथ ही उन्हें किसी अन्य शहर में परीक्षा केंद्र का चयन करने की भी अनुमति होगी। प्रयोगिक परीक्षा में छूट देने का प्रावधान किया गया है। ऐसे परीक्षार्थी दो अप्रैल,2020 तक सुविधा के हिसाब से प्रयोगिक परीक्षा दे सकते हैं। परीक्षार्थियों को इन सुविधाओं के लिए स्कूल से अनुरोध करना होगा।

loading...
Loading...

You may also like

घर में आसानी बनाएं अपनी मनपसंद टॉपिंग वाला पिज्जा

🔊 Listen This News लाइफ़स्टाइल। बच्चों को पिज्जा