सपा में टिकट को लेकर घमासान

गोरखपुर। नगर निगम चुनाव में मेयर पद के लिए आरक्षण घोषित होने के साथ ही सपा में टिकट को लेकर घमासान तेज होने लगा है। पार्टी गलियारे में र्चचाओं के मुताबिक अब तक आधा दर्जन दावेदारों ने टिकट के लिए दावा ठोंकने का मूड बनाया है। टिकट को लेकर दावेदारों ने स्थानीय स्तर पर समीकरण को अपने पक्ष में करने का प्रयास शुरू कर दिया है। इस बीच पार्टी के जिम्मेदार नेताओं ने यह संकेत दिया है कि अगर किसी एक नाम पर सहमति नहीं बनती है तो पार्टी नेतृत्व को दो दावेदारों के नाम भेजे जाएंगे। पार्टी नेतृत्व मेयर के टिकट को फाइनल करेगा। नगर निगम चुनाव में वाडरे का प्रस्तावित आरक्षण घोषित होने के बाद सपा गलियारे में चुनावी हलचल बढ़ गयी हैं। उधर, मेयर पद पर चुनाव लडऩे की आस लगाए दावेदार आरक्षण की घोषणा होने का इंतजार कर रहे थे। गुरूवार को मेयर सीट के लिए आरक्षण घोषित होने के बाद से पार्टी गलियारे में चुनावी सरगरमी में इजाफा होने लगा है। पार्टी कार्यालय पर मेयर के टिकट के कुछ संभावित दावेदार माहौल को भांपने के लिए काफी देर तक मौजूद रहे। मेयर के टिकट के लिए पार्टी हलकों में फिलहाल आधा दर्जन दावेदारों के नाम सामने आने लगे हैं। पार्टी के जिला कोषाध्यक्ष रामनारायण गुप्त भोला, जगदीश यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष राम मिलन यादव, देवेन्द्र यादव, पार्टी के शहर विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्ष अशोक चौधरी, राजकुमारी देवी, मनोज यादव, पार्टी नेता अमरेन्द्र निषाद की पत्नी और राहुल गुप्त के नाम दावेदारों में गिनाए जा रहे हैं। यह माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में दावेदारों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। इस बीच संभावित दावेदार टिकट को लेकर यहां से लेकर लखनऊ तक समीकरणों को साधने में जुट गए हैं। उधर, पार्टी के वरिष्ठ नेता किसी एक नाम पर सर्वसम्मति बनाने में भी जुट गए हैं। इन नेताओं का मानना है कि अगर यहां से एक नाम पार्टी नेतृत्व को भेजा जाएगा तो ऊपर तक एकजुटता का संदेश भी पहुंचेगा। हालांकि पार्टी के कई नेताओं का यह भी मानना है कि फिलहाल ऐसा प्रयास किसी टेढ़ी खीर से कम नही है। इस बीच कुछ दावेदारों ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी दावेदारी का भी एलान भी कर दिया है। पार्टी नेताओं के मुताबिक 21 अक्टूबर तक दावेदारों से आवेदन लिए जाएंगे। इसके पश्चात स्थानीय स्तर पर गठित कमेटी दावेदारों के नामों पर विचार कर अपनी संस्तुति पार्टी कार्यालय को भेजेगी।

loading...

You may also like

पूर्व कांग्रेस सांसद पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, पीएम मोदी पर अपशब्द का इस्तेमाल

लखनऊ। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक