पार्टनर के पास जाने से पहले करें यह काम, बढ़ जाएगी उत्तेजना…

- in Categorized
उत्तेजनाउत्तेजना
Loading...

लखनऊ। महिलालाएं कैसे उत्तेजना हासिल करे यह समझना बहुत मुश्किल है। किसी लड़की या महिला को पहले खुद यह जानना होगा कि कौन सी चीज उन्हें उत्तेजित करती है क्योंकि बहुत सी ऐसी लड़कियां या महिलाएं हैं जो ऑर्गज्म महसूस ही नहीं कर पातीं। अगर आप भी उन महिलाओं में से हैं जिन्हें ऑर्गज्म के बारे में पता नहीं या फिर बेहतर ऑर्गज्म का अनुभव करना चाहती हैं तो यह खबर आपके लिए ही है। हमने अलग-अलग क्षेत्र की कुछ महिलाओं से बात की और उनसे जानने की कोशिश की आखिर वह कौन सी चीज है जो उन्हें क्लाइमैक्स तक पहुंचने में मदद करती है।

 लुब्रिकेंट आपके सेक्शुअल प्लेजर को बढ़ाता है…

  • बहुत से लोग बिना किसी वजह के लुब्रिकेंट को कम आंकते हैं और इसके महत्व के बारे में भी कुछ नहीं जानते है।
  • हकीकत यह है कि लुब्रिकेंट आपके सेक्शुअल प्लेजर को बढ़ाता है और ऑर्गज्म हासिल करने में मदद करता है।
  • मार्केट में सिलिकन और वॉटर बेस्ड, कई तरह के लुब्रिकेंट मिलते हैं।
  • आपको इन सबके के साथ एक्सपेरिमेंट करना चाहिए ताकि पता चल सके कि कौन सा लुब्रिकेंट आपके लिए बेस्ट है।
  • अगर आपको ऑर्गज्म महसूस हो जाता है तो तुरंत रुकने की जरूरत नहीं है।
  • एक बार आपने गति पकड़ ली तो उसे जारी रखें कि क्योंकि महिलाएं एक से ज्यादा बार ऑर्गज्म हासिल कर सकती हैं।
  • सच्चाई यह है कि बहुत से केस में पहला वाला ऑर्गज्म सबसे कम आनंददायक होता है।
  • लिहाजा पहले ऑर्गज्म पर ही रुक जाना आपकी सबसे बड़ी गलती है।
  • कुछ मिनट बाद दोबारा हासिल करने की कोशिश करें।

कामोत्तेजक नॉवल पढ़ने पर भी मुझे उत्तेजना महसूस होने लगती : सेक्स एक्सपर्ट

  • ऐसी कोई रूलबुक नहीं है कि इंसान सिर्फ बेडरूम में ही सेक्स कर सकता है।
  • जगह के साथ एक्सपेरिमेंट करना अच्छा लगता है कि और अलग-अलग जगहों पर सेक्स करने से मूड और बेहतर हो जाता है।
  • पार्टनर के पास जाने से पहले अक्सर बाथटब में कामोत्तेजक संगीत सुनते हुए खुद को संतुष्ट करती हैं।
  • इसके अलावा बेडरूम में अरोमा कैंडल्स जलाना भी अच्छा लगता है।
  • साथ ही कई बार कामोत्तेजक नॉवल पढ़ने पर भी मुझे उत्तेजना महसूस होने लगती है।
  • मेरे केस में पेनिट्रेटिव सेक्स ज्यादा काम नहीं आता। मुझे क्लिटोरल स्टिम्युलेशन के बाद ही ऑर्गज्म महसूस होता है।
  • फोरप्ले और प्यार से सहलाने के बाद ही मैं क्लाइमैक्स तक पहुंच पाती हूं। 5 से 7 मिनट का वक्त लगता है लेकिन इस इंतजार का भी अपना ही मजा है।
  • मेरे केस में पेनिट्रेटिव सेक्स ज्यादा काम नहीं आता। मुझे क्लिटोरल स्टिम्युलेशन के बाद ही ऑर्गज्म महसूस होता है।
  • फोरप्ले और प्यार से सहलाने के बाद ही मैं क्लाइमैक्स तक पहुंच पाती हूं।
  • इसमें करीब 5 से 7 मिनट का वक्त लगता है लेकिन इस इंतजार का भी अपना ही मजा है।
Loading...
loading...

You may also like

Karan Deol pens a poem for his dad Sunny Deol on Father’s Day

Loading... 🔊 Listen This News On Father’s Day,