21 जोड़़े का बंध जायेंगे विवाह के पवित्र बंधन में

विवाह
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ । निर्धन जन कल्याण समिति आगामी 25 मार्च को 21 गरीब कन्याओं का विवाह संपन्न करायेगी। विवाह का आयोजन पूरे विधि विधान से किया जायेगा। यह जानकारी शुक्रवार को समिति के अध्यक्ष और संस्थापक अरविन्द कुमार दत्ता ने दी।

विवाह के पवित्र बंधन में बधेंगे 21 जोड़े

उन्होंने बताया कि सभी कार्यक्रम जानकीपुरम सहारा स्टेट स्थित सामुदायिक केन्द्र में 25 मार्च को शाम 6.30 से शुरु हो जायेंगे। उन्होंने बताया कि सभी जोड़ों की बारात भी निकाली जायेगी। श्री दत्ता ने बताया कि समिति पिछले 5 वर्षो से ऐसी निर्धन कन्याओं का विवाह कराती रही है। उन्होंने बताया कि निर्धन और गरीब कन्याओं के विवाह के लिए पूर्ण साज सज्जा के साथ ही सभी घरेलू उपयोगी सामान जिसमें बेड, अलमारी, गहने भी दिये जाते है।

संस्था के महामंत्री सोहराब खान ने बताया कि इस संस्था से कोई भी पूंजीपति नहीं जुड़ा है, इसमें वे लोग है जो मानव सेवा को ही अपना धर्म मानते है। परिणय सूत्र में बंधने वाले लाभार्थियों में राजकुमार परिणय पिंकी, सुरेंद्र कुमार परिणय शोभना, सुनील परिणय सामनी, कपिल परिणय चांदनी, सुधीर परिणय पूजा, संदीप परिणय लक्ष्मी, बैतु परिणय खुशबु, करण परिणय सोनम, श्यामबाबू परिणय रौशनी सहित 12  अन्य जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधेंगे।

Related posts:

BREKING: मध्य प्रदेश में शिवराज का मैजिक फेल, कांग्रेस को भारी बढ़त
मजेंटा लाइन: अनेक खूबियों से लैस है मेट्रो, पीएम दिखायेंगे हरी झंडी
Delhi: पटाखा फैक्ट्री में भीषण आग, 17 की मौत, पीएम ने जताया दुःख
मृग विहार का नाम डॉ. भीमराव आंबेडकर Mrig Vihar रखने की मांग
इस फोटोशूट में बिना ब्रा के दीपिका ने बिखेरे जलवे...देखें फोटो...
छात्र का बाथरूम में मिला शव, परिजनों ने कहा- दोस्तों ने पीट-पीटकर मार डाला
दिल्ली: मुस्लिम लड़की के परिवार वालों ने हिन्दू Boy Friend को उतारा मौत के घाट
जब महिला ने पति के साथ मिलकर उतारा श्वसुर को मौत के घाट...यह थी वजह...
कर्नाटक चुनाव रुझानो पर कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने दिया चौकाने वाला बयान
समय पर जांच व इलाज से ब्रेन ट्यूमर का उपचार संभव 
कर्नाटक: फिर एक बार BJP ने लड़ने से पहले डाले हथियार, कांग्रेस को मिली एक और बड़ी जीत
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव पर 25 लाख की घूस मांगने का लगा आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *