महागठबंधन को जोरदार झटका, इस बड़ी पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ने का किया ऐलान

महागठबंधनमहागठबंधन

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी महागठबंधन को बड़ा झटका लगा है। दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी ने अकेले ही चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। इसका ऐलान खुद सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया है। उन्होंने कहा है कि वे 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में किसी भी तरीके के गठबंधन का हिस्सा नहीं होंगे। इसका ऐलान उन्होंने हरियाणा के जींद जिले में किया है।

केजरीवाल के इस ऐलान को राज्यसभा उपसभापति चुनाव में कांग्रेस की उनकी पार्टी की अनदेखी पर नाराजगी की तौर पर देखा जा रहा है। वहीं अखिलेश यादव की महागठबंधन के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने की मुहीम के लिए भी ये बड़ा झटका है।

पढ़ें:- यूपी में बीजेपी को घेरने के लिए महागठबंधन का जाल तैयार, सबसे ज्यादा सीटों पर बसपा लड़ेगी 

महागठबंधन पर केजरीवाल ने साधा निशाना

केजरीवाल ने शुक्रवार को हरियाणा के जींद जिले में कहा कि आम आदमी पार्टी हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा चुनाव की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि जो पार्टियां संभावित महागठबंधन में शामिल हो रही हैं, उनका देश के विकास में कोई भूमिका नहीं रही है। इसलिए 2019 में वे किसी भी प्रकार के महागठबंधन या अन्य गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेंगे।

केजरीवाल ने निशाना साधते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने दिल्ली में कराये जाने वाले विकास के कार्यों में रोड़े अटकाए हैं। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनकी पार्टी हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा की सभी सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के इस फैसले से विपक्षी एकता को बड़ा झटका लगा है। पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी का कद बढ़ा है। वहीं दिल्ली की सियासत में अरविंद केजरीवाल बड़ा चेहरा हैं।

पढ़ें:- महागठबंधन पर भाजपा अध्यक्ष का तंज कहा- कोई नहीं टक्कर में 

केजरीवाल को मोदी सरकार पर निशाना

इस दौरान केजरीवाल ने मोदी सरकार पर उन्हें काम करने देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनके हर उस कदम को रोका गया जो आम जनता की भलाई के लिए कहा था। उन्होंने कि उनकी सरकार ने दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में क्रांतिकारी काम किये हैं। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा धर्म के नाम पर सिर्फ दिखावा कर रही है। उसे लोगों की भावनाओं से कोई लेना-देना नहीं है।

हरियाणा की खट्टर सरकार पर केजरीवाल ने हमला बोलते हुए दिल्ली के मुकाबले हरियाणा को विकास के क्षेत्र में जहां पिछड़ा हुआ करार दिया। साथ ही हरियाणा के सीएम को सलाह भी देते हुए उन्होंने कहा कि वह हमसे सीख लें कि सही मायनों में विकास कैसे होता है।

loading...
Loading...

You may also like

कांग्रेस राज से फैले भ्रष्टाचार को साफ करने के लिये नोटबंदी जैसी दवा थी जरुरी- मोदी

मध्यप्रदेश। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी